Piracy, negative publicity conspiracies fail in front of the popularity of 'The Kashmir Files'.

सिर चढ़कर बोलती ‘द कश्मीर फाइल्स’ की लोकप्रियता के आगे पायरेसी, नकारात्मक प्रचार के षड्यंत्र फेल

जयपुर ताज़ा समाचार

फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ कश्मीरी पंडितों पर इस्लामिक आतंकियों द्वारा ढाये गये जुल्मों की वो कहानी है, जिसे न केवल प्रचार से रोकने की कोशिश की गयी बल्कि अब थियेटरों में जाकर देखने वाले फिल्म दर्शकों को रोकने का षड्य़ंत्र भी चल रहा है। यद्यपि यह षड्यंत्र सफल नहीं हो पा रहा है और फिल्म देखने के लिए दर्शकों की भीड़ उमड़ रही है। फिल्म देखने के बाद फिल्म थियेटरों में दर्शक ‘जय श्री राम और भारत माता की जय..’ के नारे लगा रहे हैं। फिल्म का यह रेस्पॉन्स सिर चढ़कर बोलती द कश्मीर फाइल्स की लोकप्रियता के आगे पायरेसी, नकारात्मक प्रचार के षड्यंत्र फेल होने की कहानी भी बयां कर रहा है

जयपुर में एक थियेटर से बाहर निकलते दर्शक भारत माता की जय और जय श्री राम के नारे लगाते हुए

उम्मीद है कि माउथ टू माउथ पब्लिसिटी के कारण फिल्म हिट होती ही जायेगी। रविवार, 13 मार्च की शाम तक यानी फिल्म अपनी रिलीज के तीन दिनों के भीतर 26.05 करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई कर चुकी है। दर्शकों का कहना है कि पहली बार जितनी मेहनत और साहस के साथ 32 वर्षों के बाद कश्मीरी हिंदुओं पर ढाये गये जुल्मों की कहानी पर्दे पर दिखायी गयी है, उसके लिए फिल्म प्रोड्यूसर अभिषेक अग्रवाल, पल्लवी जोशी, और निर्माता- निर्देशक विवेक अग्निहोत्री को दिल की गहराइयों से शुक्रिया कहा जाना चाहिए।

देश में कई स्थानों से खबरें आ रही हैं कि फिल्म देखने के लिए थियेटर पहुंचने वाले दर्शकों को हर संभव रोकने की कोशिशें जारी है। गोवा के मडगांव में तो एक थियेटर में इस फिल्म के बड़ी संख्या में ऑनलाइन टिकट खरीदे गये और थियेटर में दर्शकों के बिना ही फिल्म दिखाने का नाटक किया गया। थियेटर से दर्शकों को टिकट बिक चुके होने का बहाना बना कर, उन्हें देखने फिल्म देखने से वंचित किया गया तो दर्शकों ने हंगामा मचाया।

गोवा के मडगांव में आइनॉक्स फिल्म थियेटर में मैनेजर से खाली सीटों पर लेकर सवाल करते दर्शक

उधर टेलीविजन शो, द कपिल शर्मा शो के बारे में कहा गया है कि इस शो में इस फिल्म का प्रचार करने से मना कर दिया गया। इसका कारण बताया गया कि फिल्म में कॉमर्शियल फिल्म अभिनेताओं ने काम नहीं किया है। हकीकत यह है कि फिल्म में मिथुन चक्रवर्ती, अनुमप खैर, पल्लवी जोशी, पुनीत इस्सर जैसे नामी-गिरामी कलाकारों ने काम किया है। जब कपिल शर्मा शो के बारे में आई यह जानकारी सार्वजनिक हुई तो आनन-फानन में कपिल शर्मा ने बेशर्मी से सफाई दी कि फिल्म के प्रचार को मना नहीं किया गया। मना करने का सवाल तो तब आता जब फिल्म वालों को शो में आमंत्रित किया जाता।

यह चित्र दिखाता है कि थियेटर में फिल्म पायरेसी के दौरान फिल्म समाप्ति से पूर्व एक दर्शक उठ गया और वह पर्दे के सामने दिखने लगा
पीएम मोदी से मिले द कश्मीर फाइल्स के निर्माता- निर्देशक

इस फिल्म को लेकर पायरेसी भी चरम पर पहुंच गयी है। बहुत से वाट्सअप ग्रुपों में इस फिल्म के कीवर्ड भेजे गये हैं और पायरेटेड फिल्म ही देखने को कहा जा रहा है। इस तरह फिल्म थियेटर में दर्शक कम पहुंचेगे और फिल्म को फ्लॉप घोषित किये जाने का षड्यंत्र रचा जा रहा है। कोशिश यही है कि कश्मीरी पंडितों पर हुए अमानवीय अत्याचारों की कहानी आमजन तक ना पहुंचे। फिल्म को नकारात्मक प्रचार का लाभ मिल रहा है लेकिन यह तब सकारात्मक हो गया जब प्रधानमंत्री मोदी फिल्म कलाकारों, प्रोड्यूसर और डायरेक्टर आदि से मिले और उन्हें ऐसे गंभीर विषय पर फिल्म बनाने के लिए शुभकामनाएं व धन्यवाद दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.