Roadways buses

वेतन नहीं मिला तो कर्मचारी पहुंचे न्यायालय की शरण

कोरोना जयपुर

जयपुर। कोरोना संक्रमण काल के दौरान भी काम कर रहे जयपुर सिटी ट्रांस्पोर्ट सर्विसेज लिमिटेड (जेसीटीएसएल) के कर्मचारियों को तीन महीनों का वेतन नहीं मिला है। परेशान कर्मचारियों ने अब न्यायालय की शरण ली है। न्यायालय ने इस मामले में अधिकारियों से चार सप्ताह में जवाब मांगा है।

जेसीटीएसएल एम्पलाइज यूनियन के अध्यक्ष विपिन चौधरी ने बताया कि तीन महीनों का वेतन नहीं मिलने के कारण कर्मचारियों की आर्थिक स्थित खराब हो चुकी है। वेतन के अलावा भी उनकी कई मांगे लंबित पड़ी है, जिनकी सुनवाई नहीं की जा रही है।

जेसीटीएसएल को सरकार की ओर से 10 करोड़ का फंड मिल चुका है, लेकिन अधिकारी उनके वेतन का भुगतान नहीं कर रहे हैं। इस संबंध में यूनियन की ओर से मुख्यमंत्री तक को ज्ञापन दिया जा चुका है, लेकिन हर जगह से उन्हें निराशा ही हाथ लगी।

ऐसे में यूनियन की ओर से राजस्थान उच्च न्यायालय में रिट लगाई गई थी। आज मामले की सुनवाई करते हुए उच्च न्यायालय ने अधिकारियों को ताकीद किया है कि वह चार सप्ताह में मामले की पूरी रिपोर्ट न्यायालय के समक्ष पेश करें।