जयपुर

अस्पताल की श्रेणी में देश के सबसे ऊंचे आईपीडी टावर का शिलान्यास 5 अप्रैल को

मेडिकल क्षेत्र में जागरूकता बढ़ाने के लिए मेडिफेस्ट व एग्जीबिशन का भी होगा आयोजन

जयपुर। अस्पतालों की श्रेणी में देश का सबसे बड़ा आईपीडी टावर और सभी श्रेणियों में प्रदेश की सबसे ऊंची इमारत और इंस्टिट्यूट ऑफ़ कार्डियोवैस्कुलर साइंसेस का शिलान्यास 5 अप्रेल को होगा। साथ ही मेडिकल क्षेत्र में जागरूकता बढ़ाने के लिए दो दिवसीय निरोगी राजस्थान मेडिफेस्ट-2022 का आयोजन व चिकित्सा के क्षेत्र में सरकार की उपलब्धियों को बताने वाली स्वास्थ्य प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी।

एसएमएस मेडिकल कॉलेज में शुक्रवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में मेडिकल शिक्षा के प्रमुख शासन सचिव वैभव गालरिया, जेडीए आयुक्त गौरव गोयल व आरयूएचएस के वाइस चांसलर डॉ सुधीर भंडारी ने दो दिवसीय समारोह के बारे में विस्तार से बताया।

गालरिया ने बताया कि एसएमएस अस्पताल कॉटेज वार्ड की जगह यह 24 मंजिला आईपीडी टावर आगामी 32 महीनों में बनकर तैयार हो जाएगा। उन्होंने बताया कि दो चरणों में बनने वाले इस टावर के प्रथम चरण में 12 मंजिल का कार्य किया जाएगा। इसी दिन इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोवस्कूलर साईन्सेज सवाई मानसिंह चिकित्सा महाविद्यालय जयपुर का भी शिलान्यास होगा। इसमें कुल 6 ओपीडी रूम, 34 जनरल बैड, 53 आईसीयू, 5 कैथ लैब एवं 3 ओटी प्रस्तावित है।

गालरिया ने बताया कि इसके अलावा एसएमएस मेडिकल कॉलेज के ग्राउंड पर दो दिवसीय प्रदर्शनी एवं निरोगी राजस्थान मेडिफेस्ट- 2022 का आयोजन भी किया जाएगा। मेडिफेस्ट आमजन के लिए ऐसा मंच होगा जहां विभिन्न प्रकार की बीमारियों के बारे में विशेषज्ञ डॉक्टरों से इंटरेक्शन कर समाधान पाया जा सकेगा। दो दिवसीय प्रदर्शनी में चिकित्सा विभाग और मेडिकल कॉलेज अपनी उपलब्धियों को पोस्टर, मॉडल और उपकरणों के माध्यम से दर्शाएंगे। प्रदर्शनी आम जनता के लिए 5 व 6 अप्रैल को खुली रहेगी। उन्होंने बताया कि डीओआईटी के माध्यम से विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इसका लाइव प्रसारण भी किया जाएगा ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसका लाभ मिल सके।

जेडीए आयुक्त गौरव गोयल ने बताया कि 588 करोड़ की लागत से बनने वाले इस टावर में 16 लिफ्ट होंगी तथा रूफटॉप हेलीकॉप्टर लैंडिंग की भी व्यवस्था होगी ताकि ऑर्गन ट्रांसप्लांट में किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। एसएमएस अस्पताल के सभी विंग टावर से जुड़े रहेंगे व किसी भी कार्य के लिए भवन के बाहर नहीं जाना पड़ेगा।

डॉ सुधीर भंडारी ने आईपीडी टावर के बारे में विस्तार से जानकारी देने के साथ में निरोगी राजस्थान मेडिफेस्ट 2022 व स्वास्थ्य प्रदर्शनी के बारे में भी विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त आईपीडी टावर चिकित्सा के क्षेत्र में पूरे देश के लिए एक मिसाल साबित होगा।

Related posts

शनि-रविवार को भी जमा होंगे बिजली बिल

admin

सत्तारूढ़ पार्टी के खिलाफ एकजुट सभी विपक्षी दलों की महाबैठक संपन्न, एक दूसरे को समझाने और साथ रहने की अपील

Clearnews

बिहार चुनावः नीतीश के नेतृत्व में एनडीए एक बार फिर बढ़ रही है सत्ता की तरफ

admin