मुम्बईराजनीति

‘ क्या अब किसी में हिम्मत है जो अनुच्छेद 370 वापिस लागू करे..! ‘ कोल्हापुर में गरजे मोदी, किया बालठाकरे को याद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कोल्हापुर में एक रैली को संबोधित किया। इस रैली में भी मोदी ने कांग्रेस, राहुल गांधी और भारत गठबंधन को आड़े हाथों लिया। सनातन धर्म का मुद्दा उठाते हुए मोदी उन्होंने बाल ठाकरे को याद किया और उद्धव ठाकरे के गुट पर तंज कसा। प्रधानमंत्री ने अपने भाषण की शुरुआत मराठी में की।
पीएम मोदी ने कहा कि 500 साल बाद इस देश का सपना पूरा हुआ है। अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हुआ। मंदिर के ट्रस्टी अच्छे थे, इसलिए वे कांग्रेस के पापों को भूलकर उन्हें आमंत्रित करते थे। लेकिन कांग्रेसियों ने निमंत्रण ठुकरा दिया। क्या लोग ऐसे लोगों को चुनेंगे? उसने पूछा।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, ‘डीएमके के लोग सनातन को डेंगू, मलेरिया कह रहे हैं। वे सनातन के विनाश की बात कर रहे हैं। उन्हीं लोगों को इंडी अलायंस की ओर से महाराष्ट्र में आमंत्रित कर सम्मानित किया जा रहा है। यह देखकर, स्व बालासाहेब ठाकरे की आत्मा को कितना बुरा लग रहा होगा। छत्रपति शिवाजी महाराज की धरती पर ये लोग औरंगजेब को मानने वालों के पास गए हैं। फिलहाल फर्जी शिवसेना उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रही है। अगर आज बालासाहेब होते तो उन्हें कष्ट होता। मोदी ने उद्धव ठाकरे का नाम लिए बिना कहा, ”उनकी आत्मा को चोट पहुंची होगी।
प्रधानमंत्री ने कोल्हापुर में शिवसेना उम्मीदवारों संजय मांडलिक और धैर्यशील माने के लिए एक चुनावी रैली में कहा, ”भारत का गुट लाखों लोगों को इकट्ठा करने के लक्ष्य के साथ सत्ता में आने के लिए चुनाव लड़ रहा था…सरकार बनाओ, नोट कमाओ यही उनकी आकांक्षा है।” इस अवसर पर मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस भी उपस्थित थे
प्रधानमंत्री के भाषण की मुख्य बातें…
-कोल्हापुर को फुटबॉल हब कहा जाता है, बीजेपी और एनडीए फिलहाल 2.0 से आगे चल रहे हैं
-कांग्रेस और एनडीए गठबंधन ने राष्ट्र-विरोधी और नफरत की राजनीति के दो आत्म-लक्ष्य बनाए हैं। इसलिए देश की जनता ने तय कर लिया है कि मोदी सरकार फिर से आएगी।
-इंडी एलायंस ने एक राष्ट्र-विरोधी एजेंडा शुरू किया है
-मोदी ने कहा कि इंडिया ब्लॉक ने अनुच्छेद 370 को बहाल करने के अपने इरादे की भी घोषणा की है, जिसे उनकी सरकार ने जम्मू-कश्मीर में हटा दिया था।
लेकिन, क्या अब किसी में हिम्मत है कि वह मोदी के फैसले को बदल सके? क्या आप ‘इंडिया’ गुट को ऐसा करने की अनुमति देंगे?” उन्होंने भीड़ से पूछा
-वे कह रहे हैं कि अगर वे सरकार बनाते हैं, तो वे सीएए को निरस्त कर देंगे।
-क्या जिन्हें वर्तमान में तीन अंकों की सीटें जीतने में मुश्किल हो रही है, वे सरकार के दरवाजे तक पहुंचेंगे? यही असली सवाल है।
पांच साल में पांच प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इंडिया अलायंस की योजना पांच वर्षों में पांच प्रधानमंत्री बनाने की है। अगर कांग्रेस सत्ता में आती है तो देश को हर साल एक नया प्रधानमंत्री मिलेगा। उन्होंने कर्नाटक, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में ढाई साल का फार्मूला किया था।

Related posts

कांग्रेस विधायक दीपेंद्र सिंह अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर पहुंचे

admin

आर्टिकल 370 हटाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट का निर्णय ऐतिहासिक: प्रधानमंत्री और गृहमंत्री ने सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का किया स्वागत

Clearnews

चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन मामला :चुनाव आयोग से पीएम मोदी को मिल सकती है क्लीन चिट

Clearnews