जयपुरताज़ा समाचार

अडानी का गोदाम उखाड़ फेंको, डरने की जरूरत नहीं है, मैं आपके साथ जेल चलूंगा : सतपाल मलिक

जयपुर। विवादित बयानों को लेकर चर्चाओं में रहने वाले मेघालय के राज्यपाल सतपाल मलिक ने दोबारा विवादित बयान दिया। मलिक ने कहा है कि अडानी ने किसानों की फसल सस्ते दाम पर खरीदने और महंगे दामों पर बेचने के लिए पानीपत में बड़ा गोदाम बनाया है। अडानी का गोदाम उखाड़ फेंको। डरने की जरूरत नहीं है, मैं आपके साथ जेल चलूंगा। अडानी और अंबानी मालदार कैसे हो गए हैं, जब तक इन लोगों पर हमला नहीं होगा, तब तक ये लोग रुकेंगे नहीं।

जयपुर में राष्ट्रीय जाट संसद को संबोधित करते हुए मलिक ने कहा कि मोदी सरकार ने तीन कृषि कानून वापस ले लिए। अब तक एमएसपी पर फैसला नहीं किया है। ऐसे में अगर समय रहते एमएसपी पर कानून नहीं बनाया तो देश में किसानों और सरकार के बीच भयंकर लड़ाई होगी। मैं खुद अपना इस्तीफा जेब में लेकर घूमता हूं, किसानों के लिए 4 महीने बाद मैदान में उतर जाऊंगा।

देश के एयरपोर्ट, रेलवे, शिपयार्ड सरकार के दोस्त अडानी को बेचे जा रहे हैं। हमें देश को बिकने से रोकना होगा। जब सब बर्बाद हो रहे हैं तो पीएम नरेंद्र मोदी बताएं कि ये लोग कैसे मालदार हो रहे हैं।

मलिक ने कहा कि जब किसान आंदोलन में हमारे लोग सड़कों पर मरने लगे, तब मैं अपना इस्तीफा जेब में लेकर प्रधानमंत्रीजी से मिलने गया। मैंने उन्हें समझाया कि इन लोगों के साथ ज्यादती हो रही है। कुछ ले-देकर इन्हें हटा दीजिए। उन्होंने कहा-चले जाएंगे। मैंने उनसे कहा आप इन्हें जानते नहीं। यह तब जाएंगे जब आप चले जाएंगे। तब वह नहीं माने। बाद में उन्हें समझ में आया। तब उन्होंने माफी मांग कर कानून वापस लिए।

सतपाल मलिक ने कहा कि मेरे तो राज्यपाल के तौर पर 4 महीने बचे हैं। जेब में इस्तीफा लेकर घूमता हूं, मां के पेट से गवर्नर बन कर नहीं आया था। इसलिए मैंने सोच रखा है कि रिटायर्ड होने के बाद किसानों के हक के लिए पूरी ताकत से जुट जाऊंगा। मेरा दो कमरे का घर ही मेरी ताकत है, इसलिए किसी से भी पंगा ले लेता हूं।

Related posts

जयपुर (Jaipur) में युवती का मर्डर (murder)-पहली मंजिल पर कमरे में अकेली थी, गला रेत कर हत्या

admin

अपनी रणनीति बदल केंद्र सरकार कर सकती है जातिगत जनगणना की घोषणा..!

Dharam Saini

म्हारो वोट, म्हारी पहचान थीम पर मतदाताओं को जागरूक करेगी मोबाइल डेमोंस्ट्रेशन वैन, जयपुर जिला निर्वाचन अधिकारी ने झंडी दिखाकर वैन को किया रवाना

Clearnews