जयपुर

गहलोत ने केंद्र सरकार को घेरा, कहा ईआरसीपी परियोजना को बंद करने के लिए बोला था, लेकिन हमने बंद नहीं की योजना

नागौर और जयपुर में ‘राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल ‘ गतिविधियों का अवलोकन, मुख्यमंत्री ने किया विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास एवं लोकार्पण, राजस्थान की जनकल्याणकारी योजनाओं को देशहित में अपनाए केंद्र सरकार

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को नागौर के नावां और जयपुर के दूदू में ब्लॉक स्तरीय राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल गतिविधियों का अवलोकन किया। इस दौरान गहलोत ने ईआरसीपी परियोना को लेकर एक बार फिर केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया। गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को याद रखना चाहिए कि उन्होंने राजस्थान में आकर ईआरसीपी पर क्या-क्या कहा था। यह परियोजना वसुंधरा राजे सरकार लेकर आई थी। इस परियोजना को बंद करने के बजाए हम तो इसे पूरा करना चाहते हैं, लेकिन केंद्र सरकार ही इसे बंद करने की बात कर रहा है। हमने भी केंद्र को कह दिया है कि पानी का मामला राज्य सरकार से जुड़ा हुआ है, ऐसे में हम इस परियोजना को बंद नहीं करेंगे।

उन्होंने प्रधानमंत्री से राजस्थान के 13 जिलों के हित में राजस्थान पूर्वी नहर परियोजना (ईआरसीपी) को राष्ट्रीय परियोजना घोषित करने की अपील की। उन्होंने प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि वे अहिंसा का माहौल बनाने के लिए देशवासियों को संबोधित करें। साथ ही राजस्थान की भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए जल जीवन मिशन के तहत ‘हर घर नल’ पहुंचाने के लिए राज्य को विशेष श्रेणी में रखकर सहयोग करें।

इस दौरान गहलोत ने खिलाडिय़ों से मुलाकात कर उनका उत्साह बढ़ाया। उन्होंने विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास, लोकार्पण एवं भूमि पूजन किया। समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा, चिकित्सा, सड़क, बिजली, पानी, कृषि, रोजगार सहित सभी क्षेत्रों में राजस्थान को अग्रणी बनाने के लिए किसी भी तरह की कमी नहीं रखी जा रही है। गहलोत ने कहा कि केंद्र सरकार को राजस्थान की जनकल्याणकारी योजनाओं के मॉडल को पूरे देश में लागू करना चाहिए, ताकि हर वर्ग को संबल मिले।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेलों के ऐतिहासिक आयोजन से ग्रामीण खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहन मिला है। यही खिलाड़ी भविष्य में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश के लिए पदक विजेता बनेंगे। देश में पहली बार राजस्थान में इस अभूतपूर्व आयोजन से गांव-ढाणी में खेलों का माहौल बना है। राज्य सरकार द्वारा अब हर साल ग्रामीण खेलों का आयोजन किया जाएगा। ग्रामीण ओलंपिक के सफल आयोजन के बाद शहरी ओलंपिक पर भी विचार कर रहे हैं। गहलोत ने कहा कि खेल जात-पात, धर्म, अमीरी-गरीबी से अलग है। सिर्फ खिलाड़ी ही मैदान में उतरता है। ग्रामीण ओलम्पिक से गांवों में सामाजिक समरसता का माहौल और बन रहा है। इससे क्षेत्र के चहुमुंखी विकास को भी गति मिलेगी।

लिए अहम निर्णय
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार खेलों के प्रति सकारात्मक माहौल बनाने के लिए अहम निर्णय ले रही है। इसी दिशा में ग्रामीण ओलंपिक एक मजबूत कदम है। इनमें हर आयु वर्ग के लगभग 30 लाख खिलाडिय़ों का पंजीकरण खेल के स्वर्णिम भविष्य की ओर इंगित कर रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार खेल और खिलाडिय़ों के प्रोत्साहन में कोई कमी नहीं आने देगी। खिलाडिय़ों को सरकारी नौकरियों में 2 प्रतिशत आरक्षण, 229 खिलाडिय़ों को आउट-ऑफ-टर्न नियुक्ति, ओलम्पिक व कॉमनवेल्थ पदक विजेताओं तथा गुरू वशिष्ठ व महाराणा प्रताप अवॉर्ड में सम्मान राशि बढ़ाने, मेजर ध्यानचंद स्टेडियम योजनांतर्गत प्रत्येक ब्लॉक में खेल स्टेडियम बनाने सहित कई ऐतिहासिक फैसले लिए हैं। पदक विजेता खिलाडिय़ों को संविदा नियुक्तियों में भी प्राथमिकता मिलेगी।

राज्य की जनकल्याणकारी योजनाओं से मिला संबल
गहलोत ने कहा कि इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना लागू कर अब शहरों में भी जरूरतमंद परिवारों को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। मांग अनुसार हर परिवार को 100 दिन का रोजगार मिलेगा। प्रदेश में महात्मा गांधी राजकीय अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों की अनुकरणीय पहल की गई है। गरीब तबके के विद्यार्थियों को निजी विद्यालयों में अंग्रेजी पढऩे के लिए मोटी फीस से भी निजात मिली है। ये बच्चे भी शुरूआत से ही अंग्रेजी सीखकर अपना भविष्य उज्ज्वल कर सकेंगे। हमारा अगला बजट युवाओं और विद्यार्थियों को समर्पित रहेगा। किसानों के हित में अलग से कृषि बजट पेश कर बजट राशि दोगुनी कर दी गई है। प्रदेश के लगभग 1 करोड़ लोगों को पेंशन देकर सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जा रही है। मुख्यमंत्री ने समारोह में लम्पी स्किन डिजीज की रोकथाम के लिए 25 हजार आयुर्वेदिक औषधि किट वितरण की शुरूआत की। यह किट दूदू क्षेत्र के पशुपालकों को वितरित की जाएगी।

Related posts

निर्माण से लेकर आज तक भारी घाटे में चल रही जयपुर मेट्रो के विस्तार के लिए 993.51 करोड़ स्वीकृत

admin

राजस्थान आवासन मंडल (Rajasthan Housing Board) ने की हाईप्रोफाइल श्रीराम कॉलोनी (Shri Ram Colony) में बड़ी कार्रवाई, 40 ट्रक बिल्डिंग मैटेरियल (building materials) जब्त (seized)

admin

राष्ट्रीयता को जन जन तक ले जाने का एक अनूठा प्रयास

admin