मुख्यमंत्री गहलोत को दोबारा गुजरात चुनाव का जिम्मा, भूपेश बघेल को हिमाचल की कमान

जयपुर

जयपुर। एआईसीसी ने गुजरात और हिमाचल के चुनावों के लिए राजस्थान के नेताओं पर भरोसा जताया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को हिमाचल प्रदेश का मुख्य वरिष्ठ पर्यवेक्षक बनया है। विधायक सचिन पायलट को भी हिमाचल का पर्यवेक्षक बनाया गया है।

एआईसीसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गृहक्षेत्र होने के कारण जहां सीएम गहलोत को एक बार फिर गुजरात चुनाव में अहम जिम्मेदारी देते हुए मुख्य पर्यवेक्षक नियुक्त किया है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पिछले गुजरात विधानसभा चुनाव में भी प्रमुख भूमिका निभा चुके हैं। गहलोत ने गुजरात में पिछली बार जबरदस्त मेहनत की और कांग्रेस का बेहतरीन प्रदर्शन रहा। हालांकि, कांग्रेस पार्टी गुजरात में सत्ता में नहीं आ सकी थी, लेकिन नरेंद्र मोदी और अमित शाह के गढ़ में उन्होंने अच्छी चुनौती दी थी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत गुजरात चुनाव में वरिष्ठ पर्यवेक्षक बनाया गया है, वहीं उनके सहयोग के लिए कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा और मध्य प्रदेश के मंत्री टी. एस. सिंह देव को ऑब्जर्वर नियुक्त किया गया है। वहीं, प्रदेश के पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रहे सचिन पायलट को भी हिमाचल विधानसभा चुनाव में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देते हुए पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को वरिष्ठ पर्यवेक्षक बनाया गया है, वहीं प्रताप सिंह बाजवा को भी प्रवेक्षक बनाया गया है।

उल्लेखनीय है कि एआईसीसी राजस्थान के नेताओं पर इन दिनों ज्यादा भरोसा जता रहा है। पूर्व में भी कई उपचुनावों में राजस्थान के नेताओं को पर्यवेक्षक बनाया गया है, वहीं पंजाब और उत्तराखंड के चुनावों में भी राजस्थान के नेताओं को पर्यवेक्षक बनाया गया था। राजस्थान के पूर्व चिकित्सा मंत्री को भी एआईसीसी ने लंबे समय से गुजरात में ही लगा रखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.