राजस्थान के 12 से 14 जिलों में हुआ 100 फीसद वैक्सीनेशन

जयपुर

शेष बचे जिलों की कार्य योजना बना कर दी जाएगी वैक्सीनेशन कार्यक्रम को गति

जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने कहा कि वैक्सीनेशन के मामले में प्रदेश में सराहनीय कार्य हुआ है। प्रदेश के 12 से 14 जिलों में 100 फीसद वैक्सीनेशन किया जा चुका है। शेष बचे जिलों की समीक्षा कर वैक्सीनेशन के कार्य को गति दी जाएगी।

मीणा ने बताया कि प्रदेश में 96 फीसद से ज्यादा लोगों को प्रथम डोज लग चुकी है, जबकि दोनों डोज लगवाने वालों की तादाद 80 प्रतिशत तक जा पहुंची है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में व्यापक स्तर पर वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है। चिकित्सा कार्मिकों की मेहनत के चलते ही दिसंबर माह में 1 करोड़ 32 लाख लोगों का वैक्सीनेशन किया गया था। इस दौरान 60 से अधिक आयु वर्ग के लोगों, फ्रंटलाइन वर्कर व हेल्थ वर्कर्स को बूस्टर डोज भी लगाए गए साथ ही 15 से 18 आयु वर्ग के किशोर किशोरियों का भी वैक्सीनेशन किया गया।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रदेश के 96.3 प्रतिशत लोगों को कोरोना वैक्सीन की प्रथम व 80.3 प्रतिशत लोगों को दोनों डोज लगाई जा चुकी हैं। वहीं 15 से 18 आयु वर्ग के किशोर किशोरियों को 62.9 फीसद व 33.4 प्रतिशत को प्रिकॉशन डोज भी लगाई जा चुकी हैं।

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि प्रदेश के ज्यादातर जिलों में 90 प्रतिशत से ज्यादा लोगों को वैक्सीन की प्रथम डोज लगाई जा चुकी है। वैक्सीनेशन के बीच के अंतराल के चलते दूसरी डोज लगाने की गति थोड़ी धीमी हो सकती है। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा आमजन को टीकाकरण के लिए प्रेरित करने के लिए व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार किया जा रहा है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोरोना से बचने के लिए वैक्सीन की दोनों डोज लगवाना जरूरी है। दोनों डोज नहीं लगवाने वालों की जल्द ही समीक्षा कर कारण जाना जाएगा और कार्य योजना बनाकर उन्हें वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित भी किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.