logo for clear news

‘रीट में चीट’ की लड़ाई अब ‘नाथी के बाड़े पर आई’

जयपुर

भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने जयपुर में भी पूर्व शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के सरकारी आवास पर पोता नाथी का बाड़ा

जयपुर। राजस्थान में ‘रीट में चीट’ को लेकर कांग्रेस और भाजपा में चल रही लड़ाई अब ‘नाथी के बाड़े’ पर आ गई है। बुधवार रात सीकर में भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने पूर्व शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के निवास पर ‘नाथी के बाड़ा’ पोत दिया था, वहीं गुरुवार दोपहर जयपुर में भी भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने डोटासरा के सरकारी निवास पर ‘नाथी के बाड़ा’ पोत दिया।

गुरुवार दोपहर भाजयुमो प्रदेशाध्यक्ष हिमांशु शर्मा के नेतृत्व में कुछ कार्यकर्ता वाहनों से सिविल लाइंस स्थित डोटासरा के निवास पहुंचे और उन्होंने वहां बाहर की दीवार पर काले रंग से नाथी का बाड़ा पोत दिया। इससे सिविल लाइंस में सुरक्षा की स्थिति की भी पोल खुल गई। भाजयुमो कार्यकर्ताओं के विरोध का यह तरीका जल्द ही सोश्यल मीडिया पर वायरल हो गया। रंग पोतने वाले सभी कार्यकर्ता मौके से फरार होकर भाजपा मुख्यालय पहुंच गए। इस घटना के बाद सिविल लाइंस में सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस अधिकारियों ने इन कार्यकर्ताओं का पीछा किया और पुलिस के कई वाहन भाजपा मुख्यालय के बाहर आकर खड़ा हो गए और दोषी कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी का दबाव बनाने लगे।

मामले की सूचना मिलते ही भाजपा के कई वरिष्ठ नेता मुख्यालय पहुंचे और बाहर कुर्सियां डाल कर बैठ गए। शहर अध्यक्ष राघव शर्मा भी कार्यकर्ताओं के साथ मुख्यालय पहुंच गए। पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह राठौड़ और अरुण चतुर्वेदी ने पुलिस अधिकारियों को बुलाकर बात की और गिरफ्तारी के दबाव का विरोध किया। राठौड़ ने इस दौरान डीजीपी से भी वार्ता की और राजनैतिक कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी का विरोध किया। ऐसे में भाजपा मुख्यालय के बाहर देर शाम तक गहमागहमी की स्थिति बनी रही।

सुरक्षा एजेंसियां, पीडब्ल्यूडी करे कार्रवाई
घटना के बाद कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा का बयान सामने आया। उन्होंने कहा कि इस मामले में वह कोई कार्रवाई नहीं करेंगे। सरकारी आवास को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई है। ऐसे में सुरक्षा एजेंसियां या पीडब्ल्यूडी ही कोई कार्रवाई करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.