जयपुर

समुदाय विशेष के चिकित्सकों के तबादले पर किशनपोल विधायक और चिकित्सा मंत्र आमने—सामने

कांग्रेस विधायक और समर्थकों ने चिकित्सा मंत्री मीणा के निवास के बाहर दिया धरना, डॉक्टरों के तबादले निरस्त करने की मांग

जयपुर। राजधानी में डॉक्टर्स के ट्रांसफर को लेकर शनिवार को गहलोत सरकार के चिकित्सा मंत्री और एक विधायक आमने—सामने हो गए। इस दौरान विधायक ने अपने समर्थकों के साथ चिकित्सा मंत्री के निवास पर धरना दिया और ट्रांस्फर निरस्त करावा कर माने।

किशनपोल विधानसभा क्षेत्र के चार मुस्लिम चिकित्सकों के तबादले से नाराज कांग्रेस के क्षेत्रीय विधायक अमीन कागज़ी अपने समर्थकों के साथ दोपहर को चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा के बंगले पर धरना देकर प्रदर्शन किया। कांग्रेस विधायक समर्थकों ने चिकित्सा मंत्री मीणा पर समुदाय विशेष डॉक्टरों का तबादला करने का आरोप लगाया और कहा कि विधायक की डिजायर पर भी डॉक्टर्स का तबादला निरस्त नहीं किया जा रहा है।

कागजी और उनके समर्थकों ने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक तबादला निरस्त नहीं होगा वे धरना समाप्त नहीं करेंगे। ऐसे में चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा अपने निवास से बाहर आए और कागजी को अंदर आने के लिए मनाने लगे औरअमीन कागजी को आश्वासन देना पड़ा कि उनके क्षेत्र के डॉक्टर वापस लगा दिया जाएगा। यही नहीं चिकित्सा मंत्री मीणा ने विधायक की डिजायर पर उन सभी डॉक्टर्स का तबादला निरस्त भी कर दिया।

कांग्रेस विधायक कागजी ने कहांकि पिछले दिनों का किशनपोल विधानसभा क्षेत्र के 4 मुस्लिम डॉक्टर को ट्रांसफर करके दूसरी जगह लगा दिया। इस मामले में जब उन्होंने चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा से बात की तो उन्होंने आश्वासन दिया कि अगली लिस्ट में इन डॉक्टर को वापस पुरानी जगह लगा दिया जाएगा।

शुक्रवार को जब दोबारा लिस्ट जारी हुई तो उसमें उन डॉक्टर का तबादला नहीं होने से खफा विधायक अपने समर्थकों के साथ चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा के घर आ पहुंचे। विधायक और उनके समर्थक धरने पर बैठ गए। चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा से उन चारों डॉक्टरों को तबादला वापस किशनपोल विधानसभा क्षेत्र करने की मांग पर अड़ गए।

इस मामले में चिकित्सा मंत्री मीणा ने बताया कि 315 पीजी करके जो डॉक्टर्स आए उन्हें हमने वहां लगाया है जो जहां पोस्ट खाली थी और जीरो सर्विस थी। उसी में से 2-3 डॉक्टर इनके भी बाहर लग गए। विधायक ने कल जब दोबारा लिस्ट दी तो हमने उन्हें वापस एडजस्ट कर दिया उन्होंने कहा था कि हमारे यहां पोस्ट खाली है यही लगा दो तो वापस लगा दिया। क्योंकि हम विधायक की डिजायर पर ही डॉक्टर्स और पैरा मेडिकल स्टाफ के ट्रांसफर कर रहे है।

Related posts

अब होगा शहरी सरकार में घमासान, ग्रेटर महापौर ने 7 अप्रेल को बुलाई साधारण सभा की बैठक

admin

कोरोना काल (Corona time) के दौरान चालू रहा राजस्थान में खनन (mining), इससे वित्त वर्ष 2021-22 में 23 मई तक राज्य ने कमाये 535 करोड़ रुपये

admin

जयपुर नगर निगम ग्रेटर में नहीं चली चौधराहट, पहले आदेश में ही मुंह की खाई

admin