सरिस्का टाइगर रिजर्व के बफर क्षेत्र में बने नए ट्यूरिस्ट रूट बारा-लिवारी का शुभारम्भ

जयपुर

अलवर जिले के पर्यटन विकास में सरिस्का अभ्यारणय एक अहम कडी

जयपुर। अरावली की तलहटी में फैला विस्तृत सरिस्का क्षेत्र अलवर जिले के पर्यटन विकास में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता एवं कारागार विभाग मंत्री टीकाराम जूली ने शनिवार को सरिस्का टाइगर रिजर्व के बफर क्षेत्र में बनाए गए नये ट्यूरिस्ट रूट बारा-लिवारी का शुभारम्भ किया।

इस दौरान उन्होंने दो पर्यटक वाहनों को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया और कहा कि सरिस्का स्थित टाइगर रिजर्व क्षेत्र एक बडे पर्यटक स्थल के रूप में उठकर जिले के विकास में महत्वपूर्ण घटक साबित हो रहा है। सरिस्का अपनी मनोरम प्राकृतिक छटा से देश-विदेश में अपनी अमिट पहचान रखते हुए निरन्तर पर्यटकों को अपनी ओर लुभाता रहा है जिससे पर्यटन विकास के साथ-साथ स्थानीय स्तर पर रोजगार के सृजन को भी बढ़ावा मिलता है।

मंत्री जूली ने कहा कि सरिस्का टाइगर रिजर्व के बफर क्षेत्र में बनाए गए नये ट्यूरिस्ट रूट के प्रारम्भ होने से जहां स्थानीय ग्रामीणों की आय का स्रोत बढ़ेगा वहीं पर्यटकों को सरिस्का टाइगर रिजर्व के प्राकृतिक सौंदर्य को निहारने का अवसर मिलेगा तथा कोर क्षेत्र पर भी दबाव कम होगा। इस दौरान उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा सरिस्का टाइगर रिजर्व के नेचर गाइड का शुल्क रणथम्भौर टाइगर रिजर्व के समान जिप्सी के लिए 750 रूपये प्रति पारी तथा केन्टर के लिए 860 रूपये प्रति पारी किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.