खुद की गलती से चली गोली, नकाबपोश अपराधियों द्वारा गोली चलाने की कहानी गढ़ी

जयपुर

कोटपूतली में गोली लगने से दो युवकों के घायल होने का मामला

जयपुर। कोटपूतली थाना इलाके के सरूंड गांव में खुद की गलती से गोली चलने से दो दो युवक घायल हो गए। बाद में इन्होंने अपने बचाव के लिए पुलिस के सामने नकाबपोश अपराधियों द्वारा गोली चलाने की कहानी गढ़ दी, लेकिन अनुसंधान में इनकी सारी पोल खुल गई।

जयपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल ने बताया कि बुधवार दोपहर बीडीएम अस्पताल पुलिस चौकी को सूचना मिली थी कि कोटपूतली के थाना सरुंड के ग्राम कांसली में फायरिंग में घायल दो युवक भर्ती हुए हैं। घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने पूरे जिले में गहन नाकाबंदी कराई।

पुलिस अधिकारी कोटपूतली के बीडीएम अस्पताल पहुंचे और जानकारी की तो सामने आया कि इस घटना में साहिल निवासी कासली के पेट में गोली लगी है और गोलू लखेरा निवासी कासली के बाएं हाथ की तर्जनी अंगुली में गोली से चोट आई है। पुलिस ने गोलू और इनके साथी नरेंद्र से घटना के संबंध में पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि वह तीनों गांव के प्राथमिक स्कूल में कोल्डड्रिंक पी रहे थे, इस दौरान एक बिना नंबरी मोटरसाइकिल पर दो नकाबपोश आए और उनपर तीन राउंड फायर कर दिए, जिससे साहिल और गोलू घायल हो गए।

पुलिस ने गोली से लगी चोट को देखकर अनुमान लगाया कि गोली पास से ही चली है, जबकि घायलों के बयान के अनुसार नकाबपोशों ने उनपर गोली चलाई थी। चोट की प्रकृति और बयानों में विरोधाभास होने पर पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर गहन निरीक्षण किया। आस—पास के लोगों से जानकारी ली गई तो सामने आया कि घायलों की मोटरसाइकिल के अलावा वहां मोटरसाइकिल पर कोई नकाबपोश नहीं आया था।

इस पर पुलिस ने गोलू लखेरा और नरेंद्र यादव से सख्ती से पूछताछ की तो सच्चाई सामने आ गई। दोनों ने बताया कि वह दोनों साहिल के साथ स्कूल में कोल्ड ड्रिंक पी रहे थे। गोलू के पास एक लोडेड देशी कट्टा था, अचानक गोलू से कट्टे का ट्रिगर दब गया और गोली उसकी अंगुली को भेदते हुए साहिल के पेट में जा घुसी। इसके बाद घटना में प्रयुक्त कट्टे को इनका एक अन्य साथी खोट्या मेघवाल निवासी कासली लेकर फरार हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.