जयपुर

गहलोत ने खोला अल्पसंख्यकों के लिए पिटारा

अल्पसंख्यक समावेशी विकास कोष के तहत विभिन्न योजनाओं के प्रारूप को मंजूरी दी

जयपुर। राजस्थान में अभी चुनावों में एक वर्ष का समय शेष है, लेकिन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वोटरों को लुभाने के लिए पिटारा खोलना शुरू कर दिया है। गहलोत ने अल्पसंख्यक समावेशी विकास कोष के अंतर्गत विभिन्न योजनाओं के प्रारूप को मंजूरी दी है। गहलोत द्वारा वक्फ सम्पत्ति संरक्षण योजना के लिए 5 करोड़ रुपए, आधारभूत संरचना विकास कार्यों के लिए 34 करोड़ रुपए तथा जनसहभागिता के आधार पर आधारभूत संरचना विकास कार्यों के लिए 10 करोड़ रुपए का वित्तीय प्रावधान किया गया है।

वक्फ संपत्ति संरक्षण योजना के अंतर्गत वक्फ भूमि अथवा सार्वजनिक भूमि में बने कब्रिस्तान, मदरसों, विद्यालयों में चारदीवारी निर्माण जैसे विकास कार्य किए जाएंगे। इन विकास कार्यों के किए जाने से वक्फ भूमि अथवा सार्वजनिक भूमि को विवाद एवं अतिक्रमण से सुरक्षित रखा जा सकेगा।

आधारभूत संरचना विकास कार्यों में राज्य में स्थित अल्पसंख्यक बाहुल्य बस्तियों में विकास कार्य करवाए जाएंगे। इन क्षेत्रों में पेयजल टंकी निर्माण, सड़क निर्माण, नाली निर्माण आदि विकास कार्य होने से अधिसूचित अल्पसंख्यक समुदाय का समग्र विकास हो सकेगा तथा बस्तियों में जीवनयापन की स्थितियों को बेहतर बनाया जा सकेगा।

जनसहभागिता आधारित संरचना विकास कार्यों में ऐसी वक्फ सम्पत्तियों का संरक्षण एवं विकास कार्य होगा जहां 10 प्रतिशत जनसहभागिता हिस्सा राशि प्राप्त हो जाती है। योजना के अंतर्गत वे सभी वक्फ संपत्तियों पात्र होंगी, जो राजस्व रिकॉर्ड/राजस्थान वक्फ बोर्ड में वक्फ संपत्ति के रूप में दर्ज हैं तथा योजना के तहत नवीन धार्मिक संपत्तियों का निर्माण कार्य शामिल नहीं होगा।

उल्लेखनीय है कि गहलोत द्वारा बजट में अल्पसंख्यक समुदाय के समावेशी विकास एवं कल्याण हेतु अल्पसंख्यक समावेशी विकास कोष का गठन किए जाने की घोषणा की गई थी।

Related posts

कोरोना मरीजों की सिटी स्कैन जांच के लिए शुल्क निर्धारित

admin

देह व्यापार में लिप्त 3 युवतियों एवं एक युवक सहित चार गिरफ्तार

admin

जनजाति कृषकों को ‘कुसुम योजना ’ के तहत सोलर पम्प स्थापित करने के लिए मिलेगा 11.85 करोड़ रुपये का अनुदान, 5000 जनजाति कृषकों को बिजली के बिल से निजात मिलेगी

admin