डिजीटल हुए महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल

जयपुर

जयपुर। राजस्थान में महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल में आवेदन से लेकर प्रवेश प्रक्रिया को पूरी तरह ऑनलाइन किया जा रहा है। मॉडल के रूप में सबसे पहले जयपुर के मानसरोवर स्थित महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूूल में यह प्रक्रिया आरंभ की गई है। यहां आवेदन प्रकिया के ऑनलाइन हो जाने से आवेदकों द्वारा इस भीषण गर्मी में, स्कूल प्रांगण में उपस्थित नहीं होकर, अपने घर से ही मोबाइल और कम्प्यूटर द्वारा आवेदन प्रकिया को पूर्ण किया गया है।

लोगों में स्कूल में प्रवेश के लिए जबरदस्त रुझान
महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल में प्रवेश के लिए लोगों का जबरदस्त रुझान है। इन विद्यालयों की लोकप्रियता का आलम यह है कि स्कूल में रिक्त सीटों के लिए 50 गुना तक आवेदन विद्यालय प्रशासन के पास आते है जिसमें वे लॉटरी के माध्यम से आवेदकों को सीट उपलब्ध करवाते है।

राज्य का पहला डिजीटल स्कूल
जयपुर के मानसरोवर में स्थापित महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय में इस शैक्षणिक सत्र में प्रवेश के लिए रिक्त मात्र 58 सीटें उपलब्ध थी। विद्यालय के प्रधानाचार्य अनु चौधरी ने बताया कि इन रिक्त सीटों के लिए प्रवेश के लिए बहुत अधिक संख्या में आवेदन प्राप्त हुए है। स्कूल में प्रवेश की संबंधित पूरी प्रकिया ऑनलाइन थी। उन्होंने बताया कि आवेदकों ने क्यू आर कोड एवं स्कूल वेबसाइट पर जाकर एडमिशन के लिए आवेदन किया एवं स्कूल से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त की।

विद्यालय के लिए अलग से मोबाइल एप भी
मानसरोवर के इस स्कूल के लिए मोबाइल एप भी बनी हुई है जिसको विद्यार्थी दर्पण की तरफ से उपलब्ध कराया गया है। इस मोबाइल एप को छात्र एवं अभिभावक पिछले सत्र से ही उपयोग में ले रहे है। इस मोबाइल एप के माध्यम से ही कोविड काल में ऑनलाइन क्लास, ऑनलाइन एग्जाम एवं अन्य जरुरी प्रकिया पूरी हुई है। प्रधानाचार्य ने बताया कि इस मोबाइल एप में छात्र एवं उसकी कक्षा से जुड़ी हुए सभी जानकारी उपलब्ध कराई गयी है। इस एप के माध्यम से छात्रों को स्कूल में होने वाले सभी कार्यक्रमों की अपडेट एवं जानकारी उपलब्ध करवाई जाती है। एमएनआईटी स्थित विद्यार्थी दर्पण के माध्यम से सरकारी स्कूलों का डिजीटलीकरण संभव हो पाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.