निगम बोर्ड बनने की तैयारी, एक साल तक क्या करते रहे अधिकारी?

जयपुर


दोनों निगमों में अभी तक नहीं हो पाया कार्यों का बंटवारा

जयपुर। नगर निगम हैरिटेज और ग्रेटर के चुनाव होने वाले हैं। जल्द ही नए बोर्ड बन जाएंगे, लेकिन सवाल उठ रहा है कि वह करेंगे क्या? क्योंकि अभी तक दोनों निगमों में प्रमुख कार्यों का बंटवारा ही नहीं हो पाया है।

असल में निकाय चुनाव अप्रेल में होने वाले थे, ऐसे में जनवरी तक दोनों निगमों का बंटवारा हो जाना चाहिए था, लेकिन अभी तक बंटवारा नहीं होने के कारण सवाल खड़ा हो रहा है कि आखिर निगम अधिकारी इतने समय तक क्या करते रहे? अधिकारी जो कार्य अब कर रहे हैं, वह तो 2019 के अंत तक ही पूरा हो जाना चाहिए था।

मार्च में कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन लगा और निकाय चुनाव टल गए। इस दौरान निगम कार्यालय ने काम किया। लॉकडाउन हटने के बाद भी अधिकारियों के पास कोई खास काम नहीं था, इसके बावजूद आज तक कार्यों का बंटवारा नहीं होना अधिकारियों की लापरवाही को दर्शा रहा है। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या अधिकारी जनवरी से लेकर अक्टूबर तक अपने कमरों में आराम फरमाते रहे ।

अधिकारी इन कार्यों में देरी के लिए कोरोना संक्रमण को कारण बता रहे हैं और कह रहे हैं कि नगर अधिकारियों-कर्मचारियों के कोरोना संक्रमित होने के कारण काम नहीं हो पाए। अधिकारियों का यह तर्क गले से नहीं उतर रहा है, क्योंकि कार्यों का बंटवारा तो निगम के उच्चाधिकारियों को करना था, जिनका फील्ड में कोई काम नहीं था और न ही वह लॉकडाउन के दौरान फील्ड में नजर आए।

चुनाव सर पर आने के बाद निगम अधिकारियों को कामों के बंटवारे का होश आया है। कार्यों के बंटवारे के लिए आज दोपहर नगर निगम हैरिटेज और ग्रेटर के आयुक्तों ने अधिकारियों की बैठक बुलाई है। इस बैठक में डोर-टू-डोर कंपनी बीवीजी के कार्य विभाजन और संचालन, श्वानघर, स्लाटर हाउस, गौशला आदि के कार्यों का संचालन।

दोनों निगमों में आवारा पशुओं, श्वान और बंदर आदि को पकड़े जाने की टेंडर प्रक्रिया, दोनों निगमों में फायर, मोटर गैराज के संसाधनों के विभाजन, वाहनों के ब्रांडिंग, नए गैराज बनाए जाने पर चर्चा, दोनों निगमों के कार्य संचालन व कार्ययोजना के अन्य बिंदुओं पर विचार-विमर्श किया जाएगा। यह सभी कार्य नगर निगम के प्रमुख कार्य हैं और इनका सबसे पहले बंटवारा होना चाहिए था।

बैठक में मुख्य अभियंता नगर निगम ग्रेटर, अतिरिक्त मुख्य अभियंता हैरिटेज, उपायुक्त पशु प्रबंधन ग्रेटर व हैरिटेज, उपायुक्त फायर गे्रटर व हैरिटेज, उपायुक्त गैराज ग्रेटर व हैरिटेज, अधिशाषी अभियंता मुख्यालय ग्रेटर व हैरिटेज, अधिशाषी अभियंता प्रोजेक्टर गे्रटर व हैरिटैज को विशेष रूप से बुलाया गया है। यह सभी अधिकारी मुख्यालय में ही बैठते हैं और लगभग यह सभी अधिकारी संक्रमण से मुक्त रहे, क्योंकि फील्ड में काम जोन उपायुक्तों और कर्मचारियों ने किया और वे ही संक्रमण की चपेट में आए थे।

अतिरिक्त आयुक्त मुख्यालय नगर निगम ग्रेटर व हैरिटेज अरुण गर्ग का इस संबंध में कहना है कि कार्यों का बंटवारा लेट नहीं है, अधिकांश कार्य पूरे हो चुके हैं। बैठक में तो प्रोग्रेस रिव्यू करेंगे। बीवीजी के बंटवारे का ड्राफ्ट तैयार हो चुका है, कमिश्नर देखेंगे और उसपर कार्रवाई करेंगे। गैराज के संसाधनों का बंटवारा हो चुका है। सभी जोन ऑफिस स्थापित कर दिए गए हैं। पीएचक्यू में हैरिटेज का नया ऑफिस तैयार कर दिया। स्टॉफ का बंटवारा कर दिया। रिसोर्सेज का बंटवारा, नए उपायुक्त लगाने का कार्य, चुनाव की एनओसी जारी कर दी। लगभग सभी काम पूरे हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *