प्रधानमंत्री मोदी स्वयं को केवल भाजपा का प्रधानमंत्री मानते हैं : डोटासरा

जयपुर ताज़ा समाचार

सोनिया गांधी से ईडी की पूछताछ के विरोध में कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

जयपुर। केन्द्र की भाजपा सरकार द्वारा संवैधानिक संस्थाओं का दुरूपयोग विपक्ष के नेताओं को प्रताडि़त करने की नीति के अनुसरण में कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी को बिना किसी आधार एवं तथ्यहीन आरोपों के तहत् ईडी द्वारा नोटिस दिये जाने के विरोध में गुरुवार को राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा के नेतृत्व में जयपुर स्थित ईडी कार्यालय के बाहर विशाल धरना देकर विरोध-प्रदर्शन किया गया।

प्रदर्शन को संबोधित करते हुए प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि भाजपा ने राष्ट्रपति चुनाव में सफलता मिलने पर जश्न मनाने का ऐलान किया है, जबकि राष्ट्रपति किसी एक विचारधारा का ना होकर पूरे देश के होते हैं। उन्होंने कहा कि वे तो प्रधानमंत्री को भी पूरे देश का मानते हैं किन्तु देश का दुर्भाग्य है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्वयं को केवल भाजपा का प्रधानमंत्री मानते हैं। नेशनल हैराल्ड समाचार पत्र के स्वतंत्रता संग्राम में योगदान से देश का बच्चा-बच्चा वाकिफ है, यदि नेशनल हैराल्ड नहीं होता तो स्वतंत्रता सैनानियों की आवाज आमजन तक नहीं पहुंचती तथा देश में क्रांति नहीं होती। भाजपा को तकलीफ है देश की आजदी से, देश की सामाजिक समरसता एवं धर्मनिरपेक्षता से। भाजपा को तकलीफ है कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों द्वारा देश की तरक्की के लिये किये गये कार्यों से। उन्होंने कहा कि शर्म आती है जब देश का प्रधानमंत्री अमेरिका जाकर किसी प्रत्याशी का चुनाव प्रचार करे तथा अबकी बार ट्रम्प सरकार का नारा लगाये। भाजपा को देश का तिरंगा झण्डा पसंद नहीं है, उसकी याद मिटाने हेतु भाजपा ने अपना झण्डा दो रंगा रखा। उन्होंने कहा कि एनडीए सरकार चली गई व मोदी सरकार आ गई तो भाजपा ने अपना झण्डा व टोपी भगवा कर ली जिसका स्पष्ट संदेश है कि देश की सामाजिक समरसता पर प्रहार कर धर्म के आधार पर लोगों को बाटने एवं प्रताडि़त करने का काम भाजपा करेगी तथा सत्ता प्राप्ति के लिये सीबीआई, ईडी का दुरूपयोग होगा।

डोटासरा ने कहा कि देश की आजादी से लेकर आज के स्वर्णिम भारत के निर्माण में कांग्रेस का योगदान सर्वविदित है। देश की आजादी पाने के लिये कांग्रेस पार्टी का गठन हुआ तथा महान् स्वतंत्रता सैनानियों ने कुर्बानियां देते हुए अंग्रेजी हुकूमत के अत्याचार सहे एवं अपने परिवार की परवाह ना करते हुए स्वतंत्रता आन्दोलन में भाग लेकर वर्षों जेल में बिताये। जिस सोच एवं बलिदान की विचारधारा के आधार पर कांग्रेस ने देश की आजादी की लड़ाई लड़ी उसी भावना से कार्य करते हुये कांग्रेस ने 36 कौमों को साथ लेकर देश को आगे बढ़ाने तथा सामाजिक समरसता को कायम रखने का कार्य किया। कांग्रेस की विचारधारा की इस महान विरासत को आगे बढ़ाने का काम साल दर साल कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी एवं कांग्रेस नेता राहुल गांधी कर रहे हैं। पं. जवाहरलाल नेहरू, स्व. इंदिरा गांधी, स्व. राजीव गांधी ने भारत को दुनिया में पहचान दिलाई, किन्तु देश का दुर्भाग्य है कि आज ऐसे लोग केन्द्रीय सत्ता में काबिज हुये हैं जो स्वतंत्रता आन्दोलन में जब कांग्रेस कार्यकर्ता अंग्रेजों से लड़ रहे थे तब ये लोग देश के खिलाफ जाकर अंग्रेजों की मुखबिरि कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि झूठे जुमले व नारे देकर भाजपा देश की सत्ता पर काबिज हुई, किन्तु सत्ता में आने के बाद इन्होंने केवल देश की सामाजिक समरसता के ताने-बाने तथा बाबा साहब द्वारा दिये गये संविधान पर चोट पहुंचाने के साथ लोकतंत्र को कमजोर करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कांग्रेस मुक्त भारत बनाने का नारा दिया है, किन्तु देश को कांग्रेस मुक्त तो नहीं कर पाये, लेकिन कांग्रेस के प्रमुख नेताओं को परेशान-हैरान करने का कार्य करने लग गये।

उन्होंने कहा कि इस बार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से बड़ी गलती हो गई जिसके खामियाजे की कल्पना भी भाजपा ने सपने में नहीं की होगी। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने इस बार ऐसे व्यक्ति पर कीचड़ उछालने व बदनाम करने की कुचेष्टा की है तथा डराने व धमकाने हेतु संवैधानिक संस्थाओं का दुरूपयोग कर रहे हैं जिनके साहस व बलिदान का लोहा देश ही नहीं दुनिया मानती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.