राजस्थान में नजूल संपत्तियों के निस्तारण के लिए बनी मंत्रीमंडलीय उपसमिति का पुनर्गठन

जयपुर

स्वायत्त शासन मंत्री धारीवाल को बनाया संयोजक

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अनुमति से राज्य की समस्त नजूल सम्पत्तियों के शीघ्र निस्तारण के लिए गठित की गई मंत्रीगण की समिति का और राज्य के अधिवक्ताओं द्वारा समय-समय पर राज्य सरकार के समक्ष उठाये गए मुद्दों का परीक्षण करने के लिए गठित मंत्रीमण्डलीय उपसमिति का पुनर्गठन किया गया है। राज्य सरकार द्वारा दोनों समितियों एवं उपसमितियों का पुनर्गठन कर स्वायत्त शासन, नगरीय विकास एवं आवासन विभाग मंत्री शांति कुमार धारीवाल को संयोजक बनाया गया है।

राज्य सरकार ने राज्य की समस्त नजूल सम्पत्तियों के शीघ्र निस्तारण के लिए गठित की गई मंत्रीगण की समिति का पुनर्गठन कर अन्य सदस्यों के रूप में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल, राजस्व विभाग मंत्री रामलाल जाट, सार्वजनिक निर्माण विभाग मंत्री भजन लाल जाटव और सम्पादा विभाग राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मुरारी लाल मीणा को शामिल किया गया है। उक्त समिति का प्रशासनिक विभाग सम्पदा विभाग होगा तथा इसके सदस्य सचिव, शासन सचिव सम्पदा विभाग होंगे।

इसी प्रकार राज्य के अधिवक्ताओं द्वारा समय—समय पर राज्य सरकार के समक्ष उठाए गए मुद्दों का परीक्षण करने के लिए गठित मंत्रीमण्डलीय उपसमिति के अन्य सदस्यों के रूप में कृषि विभाग मंत्री लालचन्द कटारिया, जनस्वास्थ्य अभियान्त्रिकी विभाग मंत्री महेश जोशी, राजस्व विभाग मंत्री रामलाल जाट, खाद्य विभाग मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास और तकनीकी शिक्षा विभाग राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ सुभाष गर्ग को शामिल किया गया है। उक्त समिति अपनी रिपोर्ट शीघ्र ही मुख्यमंत्री को प्रस्तुत करेगी। समिति का प्रशासनिक विभाग विधि एवं विधिक कार्य विभाग होगा तथा इसके सदस्य सचिव, प्रमुख शासन सचिव, विधि एवं विधिक कार्य विभाग होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.