जयपुर

हिंदू नव वर्ष पर करौली में निकाली जा रही रैली पर पथराव और आगजनी, 40 से अधिक घायल, प्रशासन ने लगाया कर्फ्यू

करौली में हिंदू नववर्ष के उपलक्ष पर निकाली जा रही रैली पर कुछ लोगों ने पथराव कर दिया। इस घटना के बाद भड़के तनाव के बाद एक दर्जन से अधिक दुकानों, थड़ी—ठेलों और कुछ वाहनों को आग लगा दी गई। घटना में 40 से अधिक लोगों के घायल होने की सूचना है। घटना के विरोध में करौली का बाजार बंद हो गया। मौके पर पुलिस बल तैनात कर स्थितियों को कंट्रोल करने की कोशिश की गई और एहतियातन क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया गया है।

जानकारी के अनुसार करौली में हिंदू नववर्ष के उपलक्ष में निकाली जा रही रैली पर हटवाड़ा बाजार में पथराव किया गया। पथराव के बाद पूरे शहर में माहौल तनावपूर्ण हो गया और बाजारों में पथराव व आगजनी की घटनाएं होने लगी। घटना में रैली में शामिल लोग बड़ी संख्या में घायल हो गए। बताया जा रहा है कि करीब 40 से अधिक लोग पथराव में घायल हुए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। इनमें 27 लोगों को उपचार के बाद घर भेज दिया गया। शेष घायलों को इलाज किया जा रहा है। घटना में गंभीर रूप से घायल एक युवक को उपचार के लिए जयपुर भी रैफर किया गया है।

घटना से आक्रोशित लोगों ने अस्पताल के बाहर 5-6 थड़ियों में आग लगा दी। इस दौरान हटवाड़ा बाजार और फूटा कोट क्षेत्र में करीब एक दर्जन दुकानों को भी आग के हवाले कर दिया गया। घटना के बाद करौली का बाजार बंद हो गया।

उपद्रव की सूचना पर एसपी शैलेंद्र सिंह इंदौलिया मौके पर पहुंचे। घटना के बाद से भारी पुलिस जाप्ता मौके पर तैनात है। जिला कलेक्टर ने भी शहर का दौरा किया और कफ्र्यू का ऐलान कर पुलिस ने समझाइश कर लोगों को घरों में भेजा। आगजनी पर काबू पाने के लिए फायर ब्रिगेड जुट गया है। शहर में पुलिस बल को तैनात किया गया है।

घटना के बाद उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ ने टवीट कर सरकार और राजस्थान पुलिस पर निशाना साधा। राठौड़ ने कहा कि करौली में हटवारा बाजार में हिंदू नवसंवत्सर पर निकाली जा रही बाइक रैली पर असामाजिक तत्वों द्वारा पथराव करना व आगजनी की घटना होना पुलिस की अदूरदर्शिता व अकर्मण्यता का परिणाम है। जब प्रशासन को रैली की जानकारी पहले से थी तो असामाजिक तत्वों को एकत्रित क्यों होने दिया गया? असामाजिक तत्वों के दुस्साहस के समक्ष पुलिस बौनी हो गई है। धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाली इस घटना को अंजाम देने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई ​होनी चाहिए।

घटना के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी टवीट कर शांति बनाए रखने की अपील की। गहलोत ने कहा कि करौली में हुई घटनाको लेकर डीजी, पुलिस से बात कर स्थिति की विस्तृत जानकारी ली है। पुलिस को हर उपद्रवी से सख्ती से निपटने के निर्देश दिए हैं। मैं आमजन से शांति की अपील करता हूं कि शांति बनाए रखें और कानून व्यवस्था बनाने में सहयोग करें।

Related posts

घोर निराशा के बीच उम्मीद की नयी किरण, डीआरडीओ ने बनाई डॉ रेड्डीज लैब के साथ कोरोना के खिलाफ प्रभावी दवा, डीसीजीआई ने दी इमर्जेसी इस्तेमाल की मंजूरी

admin

स्वच्छता सर्वेक्षण में डूबेगी जयपुर की नैय्या, जयपुर ग्रेटर महापौर ने एसीबी को पत्र लिखकर ठोकी कील, 3 महीनों से चल रही ठेकेदारों की हड़ताल, एसीबी को पत्र के बाद अधिकारी भुगतान से डरेंगे

admin

पेपर लीक मामला: ट्रेनी एसआई की मुश्किलें बढ़ी, पेशी के बाद कोर्ट ने सुनाया फैसला

Clearnews