पर्यटन एवं आतिथ्य क्षेत्र को मिला औद्योगिक दर्जा

जयपुर

जयपुर। मुख्यमंत्री बजट घोषणा 2022-23 के तहत पर्यटन एवं आतिथ्य क्षेत्र (हाॅस्पिटेलिटी सेक्टर) को उद्योग का दर्जा दिये जाने से प्रदेश की पर्यटन ईकाईयों के औद्योगिक दर्जे के लाभ मिल सकेंगे।

इस संबंध में नगरीय विकास, स्वायत्त शासन एवं आवासन मंत्री शांति धारीवाल द्वारा द्वारा मुख्यमंत्री बजट घोषणा 2022-23 के अनुरूप पत्रावली पर स्वीकृति प्रदान करने पर विभाग द्वारा अधिसूचना जारी कर दी गई है। कोरोना के दौरान प्रदेश के पर्यटन क्षेत्र पर काफी विपरीत प्रभाव पड़ा था। राज्य सरकार द्वारा की इस घोषणा से पर्यटन क्षेत्र को बड़ा लाभ होगा।

भविष्य में पर्यटन एवं आतिथ्य क्षेत्र (हाॅस्पिटिलिटी सेक्टर) को औद्योगिक श्रेणी में माना जाएगा और उनपर औद्योगिक दर से नगरीय विकास कर देय होगा। जिसमें होटल एवं मोटल, हैरिटेज होटल, बजट होटल, रेस्टोरेन्ट या कैफेटेरिया, रिसोर्ट, स्पोर्ट्स रिसोर्ट, हैल्थ रिसोर्ट स्पा, कैम्पिंग साईट, अम्यूजमेन्ट पार्क, एनिमल सफारी पार्क, माइस/कन्वेक्शन सेन्टर, म्यूजियम, रोप-वे, टयूरिस्ट लग्जरी कोच, कैरावेजन, क्रूज ट्यूरिज्म, ग्रामीण पर्यटन योजना में प्रस्तावित ईकाईयां, राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना के अन्तर्गत लाभ प्राप्त पर्यटन इकाईयां, मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना के अन्तर्गत लाभ प्राप्त पर्यटन ईकाईयां, राजस्थान पर्यटन विकास निगम लिमिटेड/राजस्थान राज्य होटल निगम के अधिकार क्षेत्र की पर्यटन ईकाईयां यथा होटल/मोटल/मिडवे/कैफेटेरिया आदि, केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार के अधीन समस्त राजकीय संग्रहालय शामिल होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.