दिल्लीराजनीति

17वीं लोकसभा का आखिरी सत्रः प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ये पांच साल देश में रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के थे..!

संसद के बजट सत्र 2024 का शनिवार को आखिरी दिन था। संसद में अयोध्या के राम मंदिर को लेकर सरकार के धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा हुई। 17वीं लोकसभा के आखिरी सत्र को आज पीएम मोदी ने आज संबोधित किया। लोकसभा में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘ये पांच साल देश में रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के थे। ऐसा बहुत कम होता है कि रिफॉर्म और परफॉर्म दोनों हो और हम अपनी आंखों के सामने बदलाव देख सकें। देश 17वीं लोकसभा के माध्यम से इसका अनुभव कर रहा है और मेरा दृढ़ विश्वास है कि देश 17वीं लोकसभा को आशीर्वाद देना जारी रखेगा।’
लोकसभा में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज का ये दिवस लोकतंत्र की एक महान परंपरा का महत्वपूर्ण दिवस है। 17वीं लोकसभा ने 5 वर्ष देश सेवा में अनेक महत्वपूर्ण निर्णय किए गए और अनेक चुनौतियों का सामना करते हुए भी सबने अपने सामर्थ्य से देश को उचित दिशा देने का प्रयास किया।
पीएम मोदी ने की लोकसभा अध्यक्ष की तारीफ
पीएम नरेंद्र मोदी ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से बात की और उनसे कहा, ‘आप हमेशा मुस्कुराते रहते थे। आपकी मुस्कान कभी फीकी नहीं पड़ी। आपने कई मौकों पर संतुलित और निष्पक्ष तरीके से इस सदन का मार्गदर्शन किया, इसके लिए मैं आपकी सराहना करता हूं। गुस्से, आरोप-प्रत्यारोप के क्षण आए लेकिन आपने धैर्यपूर्वक स्थिति को नियंत्रित किया और सदन चलाया और हमारा मार्गदर्शन किया। इसके लिए मैं आपका आभार व्यक्त करता हूं।’
कार्य उत्पादकता 97 प्रतिशत रही
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस कार्यकाल में परिवर्तनकारी सुधार हुए, 21वीं सदी के भारत की मजबूत नींव इनमें नजर आती है। 17वीं लोकसभा की कार्य उत्पादकता 97 प्रतिशत रही, मुझे विश्वास है कि हम 18वीं लोकसभा में शत प्रतिशत की उत्पादकता रहने का संकल्प लेंगे।
नए संसद भवन पर क्या बोले पीएम मोदी?
नए संसद भवन पर पीएम मोदी ने कहा कि हर कोई चर्चा करता था कि संसद की नई इमारत होनी चाहिए। लेकिन कोई निर्णय नहीं लिया जाता था। यह आपका (लोकसभा अध्यक्ष) नेतृत्व था जिसने यह निर्णय लिया, यह भी आगे की बात है, सरकार के साथ बैठकें कीं और परिणामस्वरूप , देश को ये नया संसद भवन मिला। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘भारत को ळ20 की अध्यक्षता का अवसर मिला। भारत को बहुत बड़ा सम्मान मिला। देश के हर राज्य ने भारत की क्षमता और अपनी पहचान दुनिया के सामने रखी। इसका प्रभाव आज भी दुनिया के मानस पटल पर है।’
अनुच्छेद 370 पर क्या बोले पीएम मोदी?
पीएम मोदी ने कहा कि अनेक पीढ़ियों ने एक संविधान के लिए सपना देखा था। लेकिन हर पल वो संविधान में एक दरार दिखाई देती थी, एक खाई नजर आती थी, एक रुकावट चुभती थी। लेकिन इसी सदन ने अनुच्छेद 370 हटाया, जिससे संविधान के पूर्ण रूप का, पूर्ण प्रकाश के साथ प्रकटीकरण हुआ।
सांसदों को पीएम मोदी ने दिया धन्यवाद
पीएम मोदी ने कहा कि मैं माननीय सांसदों का भी इस बात के लिए आभार व्यक्त करता हूं कि संकट काल में देश की आवश्यकताओं को देखते हुए सांसद निधि छोड़ने का प्रस्ताव जब मैंने माननीय सांसदों के सामने रखा, तो एक पल के विलंब के बिना सभी सांसदों ने इस प्रस्ताव को मान लिया।
‘जम्मू-कश्मीर के लोगों को सामाजिक न्याय दिलाया’
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोग सामाजिक न्याय से वंचित थे। आज, हम संतुष्ट हैं कि हमने सामाजिक न्याय के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के अनुरूप जम्मू-कश्मीर के लोगों को सामाजिक न्याय दिलाया है। आतंकवाद एक कांटा बन गया था, देश के सीने में गोलियां दाग रहा था। हमने आतंकवाद के खिलाफ सख्त कानून बनाए। मेरा पूर्ण विश्वास है कि जो लोग इस तरह के मुद्दों से पीड़ित हैं उन्हें इसी तरह ताकत मिलेगी।

Related posts

राजस्थान धरोहर संग्रहालय: सीएम गहलोत ने किया पहले फेज का लोकार्पण, ये होंगे विकास कार्य

Clearnews

राजस्थानः कोटा और उदयपुर में बनेगा विकास प्राधिकरण, विधेयक ध्वनिमत से पारित

Clearnews

ट्रेक्टर मार्च बना ट्रेरर मार्च, दिल्ली में किसानों ने दिनभर मचाया हुडदंग

admin