एसीबी राजस्थान ने 6 महीनों में की ​रिकार्ड कार्रवाई

जयपुर

जयपुर। एसीबी राजस्थान की ओर से चालू वर्ष 2022 के पहले 6 महीनों में रिकार्डतोड कार्रवाई की गई, जो अब तक इस अवधि की सर्वाधिक कार्रवाई है। एसीबी की ओर से इस वर्ष अब तक 267 प्रकरण पीसी एक्ट के तहत दर्ज किए गए हैं, जिनमें 252 ट्रेप के, 9 प्रकरण आय से अधिक संपत्ति के और 6 प्रकरण पद के दुरुपयोग के हैं। वर्ष 2020 में इसी अवधि में 104 प्रकरण दर्ज किए गए थे, वहीं वर्ष 2021 में इसी अवधि में 236 प्रकरण दर्ज किए गए थे।

एसीबी द्वारा जिला एवं उपखंड मुख्यालयों, पंचायत समिति मुख्यालयों सहित समस्त नगरपालिकाओं में भी जन जागरुकता अभियान चलाया गया, जिसमें आमजन से अपील की जा रही है कि वह अपनी मेहनत की गाढ़ी कमाई में से भ्रष्ट लोकसेवकों को रिश्वत न दें और एसीबी से हेल्पलाइन व वाट्सअप हेल्पलाइन पर संपर्क करें। परिवादियों के जायज काम को एसीबी की ओर से पुरजोर प्रयास कर संबंधित अधिकारियों से समय पर संपादित कराए जा रहे हैं।

इस वर्ष के प्रथम 6 माह में एसीबी मुख्यालय द्वारा लंबे समय से पेंडिंग प्रकरणों में अनुसंधान पूरा कराया जाकर वरिष्ठ अभियोजकों व तकनीकी अधिकारियों की विधित राय के बाद रिकार्डतोड मामलों का निस्तारण किया गया है। वर्ष 2020 में 93 प्रकरणों के निस्तारण का आदेश दिया जा सका, वहीं वर्ष 2021 में 332 प्रकरणों में व वर्ष 2022 में 346 प्रकरणों में निस्तारण के आदेश दिए गए हैं।

ब्यूरो द्वारा अनुसंधान में हुई देरी के करणों की गंभीरता से ध्यान देकर विशिष्ठ बाधाओं को दूर किया गया है व जांच, अनुसंधान के विभिन्न चरणों की समय सीमा भी निर्धारित की गई है। इसके कारण प्रकरण समय सीमा में निर्धारित हो रहे हैं व पुराने प्रकरणों में भी प्रभावी कार्रवाई कर निस्तारण किया जा रहा है।

एसीबी की हेल्पलाइन 1064 व वाट्सअप हेल्पलाइन 9413502834 हमेशा उपलब्ध रहती है। जिस पर आमजन बहुत सरल व सहज रूप से भ्रष्ट लोकसेवकों के खिलाफ शिकायत कर सकते हैं। शिकायतों को एसीबी के संवेदनशील अधिकारियों द्वारा सुना जाकर वरिष्ठ अधिकारियों तक बात पहुुंचाई जाती है। अधिकारियों द्वारा तत्काल एसीबी की टीम को सत्यापन हेतु भेजा जाकर परिवादी की सहायता से भ्रष्ट लोकसेवकों को व उनके दलालों को रंगे हाथों पकड़ा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.