जयपुरज्योतिष विज्ञान

21वां अ.भा. ज्योतिष महासम्मेलन सम्पन्न ; ‘ज्योतिष द्वारा जीवन को सही दिशा देना संभव ‘ – सुखबीर सिंह जौनपुरिया

अखिल भारतीय ज्योतिष संस्था संघ (पं.) नई दिल्ली एवं भारतीय ज्योतिष विज्ञान एवं वैदिक खगोल शास्त्र संस्था जयपुर के संयुक्त तत्वावधान में मनु ज्योतिष एवं वास्तु शोध संस्थान टोंक द्वारा कुमार मनु की 29 वीं पुण्यतिथि पर इक्कीसवां अखिल भारतीय ज्योतिष महासम्मेलन संपन्न हुआ। सम्मेलन के मुख्य अतिथि टोंक-सवाई माधोपुर लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया का माल्यार्पण दुपट्टा एवं साफा बंधवाकर स्वागत किया।
कार्यक्रम का शुभारंभ जानकी बाई गेस्ट हाऊस में कंकाली माता के महंत दुर्गा लाल गोस्वामी,एडवोकेट राधे श्याम जी गर्ग श्रीप्रकाश पाठक, ओम प्रकाश महावर व्याख्याता, एड,बसंती लाल चौधरी, पार्षद रामचरण साहू, पं. घनश्याम दाधीच, डॉ. पवन सागर शर्मा, पार्षद बादल साहू, एवं आचार्य राधा साहू ने दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया।
मनु ज्योतिष एवं वास्तु शोध संस्थान टोंक के निदेशक महर्षि बाबूलाल शास्त्री ने बताया कि सम्मेलन का शुभारंभ स्व. डॉक्टर टिना जैन, श्रीमति लता जैन को श्रद्धांजलि देकर शुभारंभ किया। इस अवसर पर विद्धवानों का सम्मान महर्षि बाबूलाल शास्त्री, डॉ. पवन सागर, पं. मदन लाल शर्मा, पं. स्वरूप नारायण गंगवारिया, पं. मनीष शर्मा, पं. राजेश शर्मा पूर्व पार्षद, डॉ बालकिशन शर्मा द्वारा माला पहनाकर दुपट्टा ओढ़ाकर किया ।
मुख्य अतिथि सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया ने कहा कि ज्योतिष का क्षैत्र विशाल है, जिस के माध्यम से मानव जीवन की दशा एवं दिशा का बोध होता है, जिस प्रकार बरसात में छाता लगाकर बचाव किया जा सकता है। उसी प्रकार ज्योतिष के द्वारा सामाधान बताये गये है, जिसके लिये अनुभवी एवं गणितज्ञों का होना आवश्यक है, जो सही दिशा दे सके। मुख्य वक्ता ज्योतिषाचार्य राकेश सोनी ने अपने व्याख्यान में दिये गये विषयों पर गणमिलान, पूर्व जन्म के सस्कारों का प्रभाव आदि पर जानकारी दी।
फलित, गणना अनुसार राकेश सोनी द्वारा चुनाव के पूर्व में जानकारी दी गई कि इस बार चुनाव में राजलक्ष्मी, ब्रह्यामण देव पर कृपा करेगी। अध्यक्षता पंडित दिलिप के अवस्थी वेदामृतम जयपुर ने की। विशिष्ट अतिथि एवं वक्ता राजकुमार शर्मा सदगुरु आश्रम टोंक, पंडित योगेश ओझा, डॉ. विष्णु शर्मा, कुलदीप शर्मा, नरेन्द्र सनतानी, डॉ. विजय बडीवाल, रमेश कुम्हावत पं. देवकीनन्दन शर्मा, पं. मनोज जोशी, पं. महेश पाठक थे। इन वक्ताओं ने विषयों पर जानकारी दी। संस्था निदेशक महर्षि बाबूलाल शास्त्री ने अपने सम्बोधन मे विषयों पर जानकारी दी। विद्धानों द्वारा महर्षि बाबूलाल शास्त्री को इनके द्वारा किये गये शोध एवं योगदान के लिए शॉल, दुपट्टा, स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। चेतन कुमार जैन, श्रीमति रिचा जैन को उल्लेखनीय सेवा के लिये सम्मानित किया।
आये हुए विद्धानों को समृति चिन्ह सम्मान पत्र, फ्यूचर पचांग फ्युचर कैलेंडर, 2024 डॉ टिना जैन द्वारा लिखित वास्तु दर्पण किताब जैनाचार्य डॉक्टर लाभेश मुनि विजय द्वारा लिखित शनि विग्रह, राजेन्द्र प्राकृतमाला किताबे दी। इस अवसर पर विष्णु साहू, महेश गोतम, ओम प्रकाश गुप्ता, विष्णु शर्मा, गणेश शर्मा, प्रभू बाडोलिया, डॉ. सीताराम विजय, पुरुषोत्तम गुप्ता, अशोक जैन, हकीम रामलाल सैनी, साहित्यकार हनुमान प्रसाद बोहरा, अजय शर्मा, रामफूल प्रजापत, कन्हैया लाल नामा, प निरज शर्मा, सागरमल साहू, रामअवतार बाथरा, रामअवतार चौहान, राजेश चौहान, विकास साहू, रिंकू अग्रवाल एवं पवन अग्रवाल पारस जैन, पूर्व पार्षद राजेश गर्ग, गोविन्द राम पंडित, आशिष शर्मा, पंडित रामदयाल दाधिच, भगवान कुम्हावत, सुरेश पाल, विशंभर बारेठ, तौसिफ खान,सैयद साहब, राधेश्याम पाराशर, महेश शर्मा, पंडित लोकेश शर्मा, डॉ कैलाश शर्मा, पंडित कृष्ण दाधीच पंडित, नवीन शर्मा, पंडित ओम प्रकाश शर्मा, तुलसी राम सोनी, पंडित कुलदीप शर्मा आदि ने भाग लिया |

Related posts

राष्ट्रीय अमृता हाट का शुभारंभ, राजस्थान सरकार राज्य के आर्थिक विकास में महिलाओं की साझेदारी के लिए कृत संकल्पित

admin

कांग्रेस (Congress) के टिकट पर जिला परिषद सदस्य का चुनाव जीतीं रमा देवी भाजपा (BJP) के टिकट से बनीं जयपुर जिला प्रमुख (Zila Pramukh), राजस्थान में 6 जिला प्रमुखों व प्रधानों के चुनाव में हुआ भारी उलट-फेर का खेल

admin

पहचाने गए हत्यारे..! हत्याकांड की जांच के लिए DGP ने गठित की SIT, हत्यारों पर 5-5 लाख का इनाम

Clearnews