amber-fort-ke-paas-watch-tower-par-giri-bijli-10-died-9 injured

आमेर महल (Amber Fort) के पास वॉच टॉवर (watch tower) पर गिरी बिजली, 10 लोगों की मौत, 9 घायल

जयपुर

राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के कई जिलों में झमाझम बारिश

राजस्थान में लम्बे इंतजार के बाद आखिरकार मानसून (monsoon) की झमाझम बारिश हो गई, लेकिन यह बारिश प्रदेश के लोगों को काफी गम दे गई। दिन में धौलपुर (Dholpur) में बकरी चरा रहे चार बच्चों पर बिजली गिरने से हुई मौत की खबर के बाद शाम को आमेर महल (Amber Fort) के पास वॉच टॉवर (watch tower) पर बिजली गिरने से 10 लोगों की मौत हो गई और करीब नौ लोग घायल हो गए।

इस घटना के बाद आमेर से जयपुर तक अफरातफरी मच गई। बिजली गिरने के बाद सबसे पहले आमेर के स्थानीय लोग पहाड़ी पर चढ़े और लोगों को नीचे उतारना शुरू किया। बाद में रेस्क्यू टीमों ने वॉच टॉवर से मृतकों और घायलों को एसएमएस अस्पताल लाना शुरू कर दिया। दुर्घटना की सूचना मिलने के बाद चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया, मुख्य सचेतक महेश जोशी, कई अन्य जनप्रतिनिधि और जिला कलेक्टर घायलों की स्थिति जानने और इलाज की पुख्ता व्यवस्था करने के लिए अस्पताल पहुुंच गए।

जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने मृतकों की पुष्टी की और बताया कि दुर्घटनास्थल पर अन्य घायलों को तलाशने के लिए रेस्क्यू अभियान चलाया जा रहा है। मौके पर पुलिस और आपदा प्रबंधन विभाग के सदस्यों की ओर से वॉच टॉवर के पहाड़ और उसके नीचे जंगल में घायलों की तलाश की जा रही है, क्योंकि बिजली गिरने के बाद बड़ी संख्या में लोग पहाड़ से नीचे कूद गए थे।

WhatsApp Image 2021 07 11 at 10.02.22 PM

जानकारी के अनुसार बारिश होने के बाद बड़ी संख्या में पर्यटक और जयपुर के लोग आमेर घूमने के लिए पहुंचे थे। इनमें से कई लोग फोर्ट के पास पहाड़ पर बने वॉच टॉवर पर सेल्फी लेने पहुंचे थे, इसी दौरान बिजली गिरी। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस-प्रशासन हरकत में आ गया। पहाड़ से घायलों और मृतकों को नीचे लाया गया और एसएमएस अस्पताल पहुंचाया गया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हादसे पर दुख व्यक्त किया है। गहलोत खुद इस घटना की मॉनीटरिंग कर रहे हैं। उन्होंने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए की सहायता की घोषणा की।

रविवार को राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के कई जिलों में तेज बारिश हुई। दिनभर ऊमस भरी गर्मी के बाद जयपुर मानसून की मेहर बरसी तो प्रदेशवासियों ने राहत की सांस ली। मौसम विभाग की मानें तो आगामी 24-48 घंटों में कुछ और भागों में मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल बनी हुई है। शाम को प्रदेश के कई इलाकों में तेज बारिश के बाद तापमान में गिरावट दर्ज की गई। मौसम विभाग के अनुसार, कोटा, उदयपुर, जयपुर, अजमेर और भरतपुर संभाग में आगामी एक सप्ताह तक मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज होगी।

मौसम विभाग ने एयरपोर्ट पर 63 एमएम (2 इंच) बारिश दर्ज की है। इस बीच बारिश जानलेवा भी बनी है। प्रदेश में बिजली गिरने से सात मासूम बच्चों की मौत हो गई। सबसे ज्यादा आसमानी आफत का कहर हाड़ौती में बरपा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *