Country’s children will also be corona free, children up to 2-18 years of age are allowed to apply covaxin

देश के बच्चे (Country’s children) भी होंगे कोरोना मुक्त (corona free), 2-18 वर्ष तक के बच्चों को कोवैक्सिन (covaxin) लगाने की मंजूरी (allowed)

जयपुर ताज़ा समाचार

अब देश के बच्चे (Country’s children) भी कोरोना के भय से मुक्त (corona free) हो सकेंगे क्योंकि केंद्र सरकार ने 2 से 18 वर्ष तक के बच्चों के कोरोना टीकाकरण के लिए देश में ही निर्मित भारत बायोटेक की कोवैक्सिन (covaxin) टीके लगाये जाने को अनुमति (allowed) दे दी है। यद्यपि इस फैसलो को लेकर विस्तृत दिशानिर्देश जारी किया जाना शेष है किंतु ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया (DGCI) के मुताबिक बच्चों को भी वैक्सीन की दो डोज ही लगायी जाएंगी।

ध्यान दिला दें कि फिलहाल देश में कोरोना प्रतिरोधी तीन प्रकार के टीके कोवैक्सिन, कोविशील्ड और स्पुतनिक-V। लगाये जा रहे हैं। इसमें कोवैक्सिन टीका भारत में तैयार किया जा रहा है जिसे भारत बायोटेक बना रही है। यद्यपि वयस्कों को सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा निर्मित टीका कोविशील्ड भी लगाया जा रहा है और बच्चों के लिए वह कोवोवैक्स नाम से टीका तैयार कर रहा है जिसे फिलहाल अनुमति नहीं मिली है। जायडस कैडिला की जायकोव-डी का क्लिनिकल ट्रायल पूरा हो तो चुका है किंतु उसे फिलहाल अनुमति हासिल नहीं हुई है। यह वैक्सीन बच्चों और बड़ों दोनों के साथ में ही लग सकेगी।

कोवैक्सिन टीके को तीन चरणों के ट्रायल के बाद ही मंजूरी
कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर ड्रक कंट्रोलर ऑफ इंडिया (DCGI)  की सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी ने 12 मई को बच्चों पर कोवैक्सिन के ट्रायल की सिफारिश की थी और इस ट्रायल की स्वीकृति मिलने के बाद भारत बायोटेक ने जून 2021 में बच्चों पर कोवैक्सिन का ट्रायल शुरू कर दिया था। तीन चरणों के ट्रायल की सफलता के बाद ही डीजीसीआई ने बच्चों पर इसके इस्तेमाल की अनुमति दी।

इन देशों के बच्चों का कोरोना टीकाकरण हो रहा है

उल्लेखनीय है कि फिलहाल अमेरिका में मई 2021 से फाइजर कंपनी की वैक्सीन 12 वर्ष से अधिक उम्र के सभी बच्चों को लगाई जा रही है। यूरोपियन यूनियन ने 23 जुलाई को मॉडर्ना की वैक्सीन बच्चों को लगाये जाने के अनुमति दी है।  जुलाई 2021 में ब्रिटेन ने 12 साल तक के बच्चों को फाइजर वैक्सीन लगाये जाने की अनुमति दी है। इजराइल भी जनवरी से 12 साल तक के सभी बच्चों के टीकाकरण की शुरुआत कर चुका है। कनाडा सबसे पहले दिसम्बर 2020 में ही बच्चों का टीकाकरण शुरू कर दिया था। इसी तरह माल्टा, चिली जैसे कुछ अन्य देशों ने भी बच्चों का टीकाकरण शुरू कर दिया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *