'Dengue Free Rajasthan' campaign will be run from October 20

20 अक्टूबर से चलाया जाएगा ‘डेंगू मुक्त राजस्थान'(Dengue free rajasthan) अभियान (Campaign)

जयपुर स्वास्थ्य

मौसमी बीमारियों पर काबू पाने के लिए चिकित्सा मंत्री ने दिए निर्देश, सर्वाधिक प्रभावित जिलों में जाएंगे नोडल ऑफिसर, चिकित्सा कार्मिकों के अवकाश पर लगाई रोक

राजस्थान (Rajasthan) में मौसमी बीमरियों और डेंगू पर काबू पाने के लिए 20 अक्टूबर से & नवम्बर तक ‘डेंगू मुक्त राजस्थान’ (Dengue free rajasthan) अभियान (Campaign) चलाया जाएगा। इसके तहत चिकित्सा विभाग स्थानीय विभागों के साथ मिलकर एंटीलार्वल गतिविधि, फोगिंग सहित अन्य गतिविधि संचालित करेगा। साथ ही उन 14 जिलों में नोडल आफिसर भेजे जाएंगे, जहां डेंगू के 150 से ज्यादा मामले सामने आए हैं।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने विभाग के अधिकारियो के साथ मौसमी बीमारियों, कोरोना वैक्सीनेशन व जांच तथा ऑक्सीजन प्लांट्स आदि की विभागीय तैयारियों की प्रगति की समीक्षा करते हुए कहा कि प्रदेश के 14 जिलों में डेंगू के 150 मरीज भर्ती हैं। मौसमी बीमारियों का प्रकोप बढऩा चिंता की बात है। हालांकि यह स्थिति चुनौतीपूर्ण है, लेकिन इस पर भी चरणबद्ध रूप से काबू पाया जा सकेगा।

शर्मा ने डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, स्क्रब टाइफस जैसी मौसमी बीमारियों का सामना करने के लिए सभी जिलों में 24 घंटे कंट्रोल रूम स्थापित करने, रेपिड रेस्पोंस टीम के गठन के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए जागरुकता के लिए आईईसी गतिविधियां करने, सीएचसी सहित सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर इंडोर मरीजों का उपचार करने के भी निर्देश दिए।

शर्मा ने चिकित्सा कर्मियों के अवकाश पर रोक लगाने, स्थानांतरित चिकित्सा कार्मिकों को तुरंत जॉइन कराने के भी निर्देश दिए। उन्होंने मौसमी बीमारियों के प्रभावी नियंत्रण के लिए ब्लॉक स्तर पर बीसीएमओ, जिला स्तर पर सीएमसचओ तथा जोन स्तर पर संयुक्त निदेशक की जिम्मेदारी तय करने के भी निर्देश दिए। अधिकारियों को स्थानीय निकाय से मिलकर एंटीलार्वल गतिविधियां व नियमित फोगिंग करने के भी निर्देश दिए।

शर्मा ने कोरोना व इसके वैक्सीनेशन की भी विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने इस दौरान तीसरी लहर से बचाव के लिए भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर नियमित रैंडम सेम्पलिंग करने के भी निर्देश दिए। प्रदेश में अब तक लक्षित 82 प्रतिशत को प्रथम एवं 40 प्रतिशत को दी द्वितीय डोज दी जा चुकी है। उन्होंने वैक्सीन से वंचित लोगों को चिन्हित कर विशेष अभियान चलाकर वैक्सीन कराने के भी निर्देश दिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *