जयपुर

उच्च शिक्षा के क्षेत्र में नये हब के रूप में विकसित हो रहा है राजस्थानः राजेंद्र यादव, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री,

उच्च शिक्षा राज्य मंत्री राजेंद्र यादव का कहना है कि राजस्थान देश में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में नए हब के रूप में विकसित हो रहा है। सोमवार 2 मई को जयपुर के जेएलएन मार्ग स्थित एचआरडीसी सेंटर में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर राज्य के विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ परिचर्चा को संबोधित उन्होंने कहा कि राजस्थान का उच्च शिक्षा विभाग नई शिक्षा नीति के सभी प्रावधानों को लागू करने में लगातार काम कर रहा है।
यादव ने कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मंशा के अनुरूप उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए राज्य में लगातार नए कॉलेज खुले हैं। इससे विश्वविद्यालयों में बच्चियों का नामांकन भी बड़ा है। उन्होंने कहा कि कॉलेज एजुकेशन में पहली बार एक हज़ार 309 एसोसिएट प्रोफेसर को प्रोफेसर पद पर प्रमोशन किया गया। उच्च शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि विश्व विद्यालय में अध्यापकों को बच्चों को उच्च स्तर की क्वालिटी शिक्षा देने के साथ ही उनके चरित्र निर्माण में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी।
उन्होंने कहा कि आज के दौर में यह आवश्यक है कि सभी विश्वविद्यालय ऐसा मैकेनिज्म विकसित करें जिससे विद्यार्थियों की कक्षाओं में अधिकतम उपस्थिति हो सके साथ ही कक्षाएं भी नियमित रूप से संचालित हों। उन्होंने उच्च शिक्षा परिषद को निर्देश देते हुए कहा कि सदस्यों द्वारा बैठक हर 2 महीने में की जानी चाहिए तथा इन बैठकों में आउटपुट पर भी चर्चा होनी चाहिए।
उच्च शिक्षा के प्रमुख शासन सचिव भवानी सिंह देथा ने कहा कि सभी विश्वविद्यालय राष्ट्रीय शिक्षा नीति को समय पर लागू करें जिससे विद्यार्थी रोजगार परक एवं काबिल बन सकें। उन्होंने कहा कि विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के सहयोग से राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू करने में जो भी रणनीति बनाई जाएगी राज्य सरकार उसमें पूरा सहयोग करेगी।
राजस्थान विश्वविद्यालय के कुलपति राजीव जैन ने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत नए वोकेशनल कोर्सेज, सेमेस्टर सिस्टम तथा कौशल विकास सहित विभिन्न प्रावधानों को लागू किया जाएगा। बैठक में संजय लोढ़ा, सदस्य सचिव, राजस्थान राज्य उच्च शिक्षा परिषद ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से परिषद की कार्यप्रणाली, राष्ट्रीय शिक्षा नीति के महत्वपूर्ण प्रावधान सहित विभिन्न बिंदुओं को बताया।
उद्घाटन सत्र के बाद आयोजित हुए तीन तकनीकी सत्रों में राजस्थान राज्य उच्चतर शिक्षा परिषद (RSHEC) के सदस्यों प्रो बीएम शर्मा, प्रो रूप सिंह बारेठ तथा प्रो एलएन हर्ष द्वारा उच्च शिक्षण संस्थानों में आधारभूत संरचना एवं मानव संसाधन बढ़ाने, राष्ट्रीय शिक्षा नीति के विभिन्न प्रावधान, उच्च शिक्षा परिषद को और अधिक सुदृढ़ करने सहित विभिन्न विषयों पर चर्चा की गई।
बैठक में कॉलेज एजुकेशन के कमिश्नर सुनील शर्मा, जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय के कुलपति केएल श्रीवास्तव, कोटा विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर नीलिमा सिंह सहित विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति तथा प्रोफेसर मौजूद थे।

Related posts

कानून व्यवस्था को लेकर राजधानी में सरकार विपक्ष के निशाने पर

admin

वर्ल्ड हैरिटेज सिटी में विरासत से खिलवाड़ कर फंसे जयपुर नगर निगम हैरिटेज ने टाउन हॉल पर लिखे स्लोगन पर पुतवाया नारंगी रंग, महापौर, निगम, एडमा और पुरातत्व विभाग के अधिकारी जवाब देने से बच रहे

admin

नगर निगम में दो कर्मचारी यूनियनों के लिए सरगर्मियां तेज

admin

Leave a Comment