लखनऊस्वास्थ्य

‘अपनी सेहत का धन रखें ‘ ये बोलते ही IIT के प्रोफेसर की पूर्वछात्र सम्मेलन में मंच पर हुई कार्डियक अरेस्ट से मृत्यु..!

आईआईटी कानपुर के 55 वर्षीय वरिष्ठ प्रोफेसर की शुक्रवार को विश्वविद्यालय में भाषण देते समय दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गई। घटना के समय पीड़ित प्रोफेसर समीर खांडेकर आईआईटी कानपुर सभागार में एक पूर्व छात्र सम्मेलन कार्यक्रम में अपना संबोधन दे रहे थे। प्रोफेसर समीर खांडेकर अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के तरीकों के बारे में बात कर रहे थे और छात्रों से उनके अंतिम शब्दों में से एक था, “अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें।” जैसे ही उन्होंने यह टिप्पणी की, खांडेकर को अचानक बेचैनी महसूस हुई और उनके सीने में कुछ दर्द हुआ। वह कुछ देर के लिए बैठे रहे जबकि दर्शकों को लगा कि वह भावुक हो रहे हैं। कुछ देर बाद प्रोफेसर के चेहरे पर पसीना आने लगा और वे मंच पर गिर पड़े।प्रोफेसर समीर खांडेकर को अस्पताल ले जाया गया लेकिन उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।
डॉ. नीरज कुमार के मुताबिक, अस्पताल लाए जाने से पहले ही खांडेकर की मौत हो चुकी थी। उन्होंने मीडिया को बताया, “उनके मेडिकल इतिहास को देखने और उनकी जांच करने के बाद, हम कह सकते हैं कि उनकी मृत्यु या तो कार्डियक अरेस्ट या कार्डियक ब्लॉक के कारण हुई। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में विशिष्ट विवरण स्पष्ट हो जाएगा।”
प्रोफेसर समीर खांडेकर के परिचितों के अनुसार, उनके परिवार में उनके माता-पिता, उनकी पत्नी और बेटा हैं। प्रोफेसर का बेटा, जो कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में पढ़ता है, वही अपने पिता का अंतिम संस्कार करेगा।
मध्य प्रदेश के जबलपुर में जन्मे प्रोफेसर समीर खांडेकर ने आईआईटी कानपुर से बी.टेक किया और पीएचडी के लिए वह जर्मनी चले गए थे । वर्ष 2004 में, वे एक सहायक प्रोफेसर के रूप में आईआईटी कानपुर में शामिल हुए, जिसके बाद वे एसोसिएट प्रोफेसर बन गए। बाद में उन्हें मैकेनिकल विभाग के विभाग प्रमुख और छात्र कल्याण डीन के रूप में नियुक्त किया गया। उनके नाम आठ पेटेंट भी हैं।
बता दें कि प्रोफेसर समीर खांडेकर 2019 से कोलेस्ट्रॉल से पीड़ित थे और उनकी लगातार दवा चल रही थी।

Related posts

आज़म खान का ड्रीम प्रोजेक्ट मौलाना अली जौहर बना गले की फांस, ट्रस्ट के ठिकानों पर आईटी विभाग की टीमों के छापे

Clearnews

वसुधैव कुटुम्‍बकम् के लिए योग की भावना के साथ 21 जून को विश्व मनाएगा नौवां अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस

Clearnews

करौली हत्याकांड पर मायावती ने राजस्थान सरकार को लिया आड़े हाथों, विपक्षी दलों ने भी साधा निशाना

Clearnews