जयपुर

अनजाने में भाजपा के पिच पर तो नहीं खेल रहे गहलोत

गहलोत के हिंदु-मुसलमान करने से भाजपा को फायदा तो नहीं मिल रहा

करौली-ब्यावर की घटना के बाद गहलोत ने ​िफर साधा भाजपा पर निशाना, कहा-यहां आग लगाने आते हैं ये- नड्डा-शाह के दौरे पर बरसे

जयपुर। करौली और ब्यावर में हुई हिंसा के बाद से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दोबारा भाजपा पर जमकर हमला बोला हैं। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के दौरे और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के प्रस्तावित दौरे को लेकर गहलोत ने निशाना साधा और करौली व ब्यावर में हुई हिंसा को भाजपा केंद्रीय नेताओं के दौरे से जोड़कर कहा कि,’यह आग लगाने के लिए यहां आते हैं, ये पूरे देश में आग लगा रहे हैं, ये आए और आग लग गई’। सीएम गहलोत ने कहा कि,’पीएम मोदी को शांति स्थापित करने की अपील करनी चाहिए’। गहलोत मीडिया पर भी बरसे और सही आंकड़े लोगों तक पहुंचाने की नसीहत दी। उन्होंने गडकरीके कांग्रेस को लेकर दिए बयान की प्रशंसा भी की।

गहलोत द्वारा लगातार भाजपा की हिन्दु-मुसलमान की राजनीति को लेकर दिए जा रहे बयानों पर सियासी हलकों में चर्चा हो रही है। गहलोत जिस तरह से बयान दे रहे हैं, उससे तो लगता है कि राजस्थान में अगले विधानसभा चुनावों में ओवैसी राजस्थान में नहीं आए तो भी यहां हिंदु-मुसलमान हो जाएगा और भाजपा को बैठे-बिठाए फायदा मिल जाएगा, क्योंकि ओवैसी का काम तो गहलोत खुद कर डालेंगे। ऐसे में गहलोत को समझना होगा कि कोई भी हिन्दु-मुसलमान करे, फायदा भाजपा को ही मिलेगा।

भाजपा सूत्रों का कहना है कि राजस्थान में पिछले दो-तीन विधानसभा चुनावों में कहीं भी हिंदु-मुसलमान वाली राजनीति नहीं देखी गई है। भ्रष्टाचार व अन्य मुद्दों पर चुनाव लड़े गए। इधर गहलोत पिछले करीब एक वर्ष से लगातार भाजपा की हिंदु-मुसलमान वाली राजनीति पर बयान दे रहे हैं और भाजपा सिर्फ उनके बयानों पर पलटवार कर रही है। इससे भाजपा जो चाहती है, वहीं हो रहा है और वाटरों का ध्रुविकरण भाजपा के पक्ष में हो रहा है। उत्तर प्रदेश में भाजपा 80-20 के फार्मूले पर चुनाव लड़ी थी, यदि भाजपा ने यहां भी यह फार्मूला अपनाया तो आंकड़ा 80-20 की जगह 90-10 का हो जाएगा, जो कांग्रेस के लिए घातक सिद्ध होगा।

देश में बहुत खतरनाक दौर चल रहा
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को सचिवालय में मीडिया से बातचीत में कहा कि,’देश में बहुत खतरनाक दौर चल रहा है। ये संविधान की धज्जियां उड़ा रहे हैं, देश के अंदर इन्होंने हिंदू-मुस्लिम कर दिया। क्या हम हिंदू नहीं है? हमें हिंदू होने का गर्व है। महात्मा गांधी ने कहा था कि हिंदू होने का मुझे गर्व है, लेकिन दूसरे धर्म का भी मान-सम्मान करना चाहिए। प्रधानमंत्री को चाहिए कि आगे आकर राष्ट्र को संबोधित करें, हिंसा की निंदा करे। देश में कानून का राज स्थापित रहे, कानून का राज रहेगा तभी लोग सुरक्षित रहेंगे।

मोदी को करनी चाहिए शांति की अपील
गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को शांति स्थापित करने की अपील करनी चाहिए। वो कहें कि हम हिंसा को बर्दाश्त नहीं करेंगे। एक बार उन्होंने अपील की थी लेकिन बाद में दबाव पड़ा होगा तो उनकी बोलती बंद हो गई। देश में हिंसा-उपद्रव रोकने के लिए केंद्र सरकार कड़ा संदेश दे, प्रधानमंत्री असामाजिक तत्वों की भर्त्सना करें, देश में कानून का राज स्थापित रखने का प्रयास करें।

49 फीसदी रेप के मामले होते हैं झूठ
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि 49 फ़ीसदी रेप के मामले झूठे होते हैं। धौलपुर और अलवर के मामले में भी यही सामने यह आया है। जब तक पूरी इन्वेस्टिगेशन नहीं हो पाती तब तक सही जानकारी सामने नहीं आ पाती। मीडिया रेप के मामलों को बढ़ा चढ़ा कर पेश करता है जबकि मीडिया का काम सच्चाई से अवगत करवाना है। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो का आंकड़ा कहता है कि साल 19-20 और 21 में राजस्थान में अपराध कम हुए हैं लेकिन हमारी सरकार ने अनिवार्य एफआईआर प्रणाली लागू की, इसके चलते केस की संख्या बढ़ी है।

गडकरी की बात का किया स्वागत
गहलोत ने केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी के उस बयान का स्वागत किया जिसमें गडकरी ने मजबूत विपक्ष के लिए कांग्रेस की जरूरत होने की बात कही थी। गहलोत ने कहा कि मैं नितिन गडकरी इस बयान का स्वागत करता हूं, क्योंकि विपक्ष की सही भूमिका कांग्रेस पार्टी ही निभा सकती है और जो लोग कांग्रेस मुक्त भारत की बात करते हैं वह खुद ही मुक्त हो जाएंगे।

मोबाइल इन्वेस्टिगेटेड यूनिट का किया शुभारंभ
इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सचिवालय में मोबाइल इन्वेस्टिगेटेड यूनिट का शुभारंभ किया और मोबाइल वैन को हरी झंडी दिखाई। गहलोत ने कहा कि यह चलते-फिरते थाने की तरह काम करेगा। इन्वेस्टिगेटिंग ऑफिसर ऑन द स्पॉट जा सकते हैं, यह कंसेप्ट नया है। पूरे देश में राजस्थान ने इसे शुरू किया है, भारत सरकार ने भी इसकी सराहना की है। भारत सरकार ने कहा है कि इसकी रिपोर्ट हमारे पास भेजिए ताकि हम इसे पूरे देश में लागू करें। यह करीब 10 करोड का प्रोजेक्ट है, इससे तमाम तरह के काम काफी आसान हो जाएंगे।

Related

Related posts

राजस्थानः कोटा और उदयपुर में बनेगा विकास प्राधिकरण, विधेयक ध्वनिमत से पारित

Clearnews

बॉर्डर टूरिज्म से लोंगेवाला सीमा चौकी का लुत्फ उठाएंगे पर्यटक

admin

जयपुर: पहले 50 वोटर्स को मिलेगा सरप्राइज Gift…!

Clearnews