कूटनीतिदिल्ली

रोड शो से लेकर शाही डिनर तक… फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और पीएम मोदी दौरे की खास बातें

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 25 जनवरी को जयपुर दौरे पर आ रहे हैं। ये दोनों नेता यहां एक साथ रोड शो करेंगे। इसी दौरे के दौरान जहां मैक्रों शाही महलों और किलों का भ्रमण करेंगे तो वहीं प्रधानमंत्री मोदी फ्रांस के राष्ट्रपति की एक महल में आयोजित भोज में मेजबानी करेंगे।
सबसे खास बात ये है कि मैक्रों और मोदी का ये संयुक्त दौरा भारत के गणतंत्र दिवस के ठीक एक दिन पहले लग रहा है। गौरतलब है कि फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों को इस बार 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया है।
युद्ध स्तर पर शुरू हुईं तैयारियां
फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित जयपुर दौरे को लेकर सरकार के स्तर पारा तैयारियां युद्ध स्तर पर शुरू हो गई हैं। मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा के प्रमुख सचिव टी रविकांत ने रविवार को अधिकारियों के साथ शहर का दौरा किया और व्यवस्थाओं का जायजा लिया।
फील्ड में दिखे अफसर
प्रमुख सचिव टी. रविकांत ने अधिकारियों संग जयपुर एयरपोर्ट से लेकर जेएलएन मार्ग, चैड़ा रास्ता, त्रिपोलिया बाजार होते हुए जंतर-मंतर तक का निरिक्षण किया। यहां से जलेब चैक, हवामहल, बड़ी चैपड़ होते हुए आमेर रोड पहुंचे। अंत में टी रविकांत ने आमेर फोर्ट पहुंचकर अधिकारियों को व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के निर्देश दिए। ढाई घंटे तक अधिकारी फील्ड में रहे।
कौन क्या करेगा?
यातायात पुलिस: राजधानी के परकोटा क्षेत्र में यातायात व्यवस्था को दुरुस्त कराएगी।
हैरिटेज निगम: बरामदों को अतिक्रमण से हटवाएगा और हवामहल के सामने दुकानों को व्यवस्थित करवाएगा। जेडीएरू जेएलएन मार्ग और दिल्ली रोड पर लाइटिंग की व्यवस्था दुरुस्त करेगा।
एक महीने में दूसरी बार दौरा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक महीने में दूसरी बार जयपुर आ रहे हैं। इससे पहले भी डीजी-आईजी कॉन्फ्रेंस के सिलसिले में 5 जनवरी को जयपुर आए थे और यहां तीन दिनों तक ठहरे थे। उससे पहले पीएम मोदी 15 दिसंबर को सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए जयपुर आए थे।
मैक्रों के साथ आएगा 50 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल
बता दें कि 25 जनवरी को मैक्रों के साथ शीर्ष अधिकारियों और सीईओ समेत 50 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल भी आ रहा है। 25 जनवरी को स्वागत समारोह के बाद राष्ट्रपति मैक्रों और पीएम मोदी के साथ रक्षा, अंतरिक्ष, ऊर्जा, समुद्री सुरक्षा, शिक्षा, रक्षा उपकरणों का स्वदेशी निर्माण, प्रवासन और गतिशीलता और इंडो-पैसिफिक जैसे मुद्दों पर उनकी द्विपक्षीय बैठक और दिन के अंत तक घोषणाएं होने की उम्मीद है।
हवा महल का दौरा करेंगे दोनों नेता
जानकारी के मुताबिक, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और पीएम मोदी आमेर का किला, हवामहल और जंतर-मंतर भी जा सकते हैं। इसके अलावा जयपुर में ही दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय वार्ता होगी। मैक्रॉन की यह यात्रा इस बात को दर्शाता है कि क्यों फ्रांस को भारतीय कूटनीति में नये रूस के तौर पर देखा जाता है। आगामी गणतंत्र दिवस में मेहमान बनने के लिए भारत सरकार ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन को आमंत्रित किया था। बाइडन के मना करने के बाद अंत समय में फ्रांसीसी राष्ट्रपति के कार्यालय से बात की गई और मैक्रों ने द्विपक्षीय रिश्तों की अहमियत को देख कर यात्रा को हरी झंडी दिखाई।
शाही डिनर करेंगे फ्रांसीसी राष्ट्रपति
सबसे दिलचस्प बात ये है कि इस बार फ्रांसीसी राष्ट्रपति के सम्मान में शाही डिनर कार्यक्रम जयपुर में रखा गया है, लेकिन भोजन और आयोजन स्थल कार्यक्रम उसी तरह से होने की संभावना है, जिस तरह का कार्यक्रम प्रधानमंत्री मोदी के फ्रांस दौरे के दौरान किया गया था।

Related posts

तीन और लड़ाकू विमान राफेल आज भारत पहुंचेंगे

admin

और अब, पीएम सूर्योदय योजना से गांव होंगे रोशन..!

Clearnews

‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ वाली कमेटी में शामिल नहीं होंगे अधीर रंजन चौधरी

Clearnews