खेलदिल्ली

विद्रोही पहलवान बजरंग पूनिया को NADA ने किया सस्पेंड, खटाई में पड़ गयी ओलंपिक दावेदारी..

ओलंपिक खेलों में पदक जीतने वाले पहलवान बजरंग पुनिया को भारतीय की राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (NADA) ने अनिश्चित काल के लिए निलंबित कर दिया है। इन परिस्थितियों में NADA के इस फैसले के बाद इस साल पेरिस में होने वाले ओलंपिक खेलों में बजरंग पुनिया की भागीदारी खटाई में पड़ती दिख रही है।


ध्यान दिला दें कि भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के विरुद्ध प्रदर्शन की अगुआई करने वाले पूनिया को मार्च में सोनीपत में आयोजित नेशनल ट्रायल्स के दौरान पुरुषों के फ्रीस्टाइल 65 किग्रा सेमीफाइनल में रोहित कुमार से 1-9 से हार मिली थी। सेमीफाइनल में हारने के बाद पूनिया गुस्से में तुरंत भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) केंद्र से चले गये। इस दौरान नाडा के अधिकारियों ने पूनिया के डोप नमूने लेने की कोशिश की लेकिन वह तीसरे-चौथे स्थान के मुकाबले के लिए भी नहीं रूके। इसके पश्चात पूनिया के डोप सैम्पल नहीं दिए जाने के चलते नाडा ने उन्हें भविष्य के किसी भी कार्यक्रम में भाग लेने से निलंबित करने का आदेश जारी किया हैं।
NADA द्वारा जारी आदेश पत्र में कहा गया है, ”यदि आप परिणामों को स्वीकार करते हैं, तो अपील के अधिकार के अधीन, मामले को आगे की अनुशासनात्मक कार्यवाही के बिना हल किया जाएगा। यदि आप असहमत हैं, तो मामले को डोपिंग रोधी अनुशासनात्मक पैनल को निर्णय के लिए भेजा जाएगा।”
बताया जा रहा है कि बजरंग पूनिया के सैम्पल देने से इनकार करने पर NADA ने वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (WADA) को इस बारे में सूचित किया। इसके बाद WADA ने NADA को सुझाव दिया कि वह बजरंग से नोटिस जारी करके यह जवाब मांगे कि उन्होंने टेस्ट से इनकार क्यों किया। ऐसे में NADA ने 23 अप्रैल को बजरंग पूनिया को नोटिस जारी कर 7 मई तक जवाब देने को कहा है। इसका अरथ है कि जब बजरंग NADA को जवाब देंगे, तब जाकर सुनवाई की तारीख तय की जाएगी।
बता दें कि इससे पहले बीते साल दिसंबर में बजरंग ने एक वीडियो जारी कर डोप कलेक्शन किट के एक्सपायर होने का आरोप लगाया था। अब NADA द्वारा ससपेंड करने पर बजरंग पूनिया ने कहा, ‘मैंने कभी भी नाडा अधिकारियों को सैम्पल देने से इनकार नहीं किया. मैंने उनसे अनुरोध किया, वे मुझे जवाब दें कि उन्होंने पहले मेरा सैम्पल लेने के लिए जो एक्सपायरी किट लाई थी, उस पर उन्होंने क्या कदम उठाए या क्या कार्रवाई की। उसका जवाब दे दीजिए और फिर मेरा डोप टेस्ट ले लीजिए. मेरे वकील विदुष सिंघानिया इस पत्र का जवाब समय अनुसार देंगे।’
उल्लेख है कि बजरंग पूनिया भारतीय कुश्ती महांसघ (WFI) के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने और धरने पर बैठने वाले पहलवानों में शामिल थे। बजरंग पूनिया ने पिछले दिनों यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग (UWW) को पत्र लिखकर WFI के खिलाफ एक्शन लेने की गुजारिश की थी हालांकि इसके कुछ दिनों बाद ही UWW ने डब्ल्यूएफआई पर लगा बैन हटा दिया था।

Related posts

333 करोड़ का घाटा उठाने के बाद पीवीआर आईनॉक्स करेगा 6 महीने में 50 सिनेमा स्क्रीन्स बंद..!

Clearnews

एग्जिट पोल को फर्जी बताते हुए राहुल बोले, सिद्धू मूसेवाला का सॉन्ग सुना है, हम 295 सीट जीतेंगे

Clearnews

रामराज का शंख बजा है…’ गीताबेन के इस भजन को पीएम मोदी ने शेयर कर दुनिया को सुनाया

Clearnews