innovation and startup has the ability to change the future of the country

इनोवेशन और स्टार्टअप में देश के भविष्य को बदलने की क्षमता

जयपुर

राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि इनोवेशन और स्टार्टअप में देश के भविष्य को बदलने की क्षमता है। उन्होंने आह्वान किया कि युवा नवाचार, अनुसंधान और उद्यमिता विकास की ओर प्रेरित हों, इसके लिए तकनीकी शिक्षण संस्थान अनुकूल माहौल और सुविधाएं उपलब्ध कराएं।

मिश्र शुक्रवार को शंकरा ग्रुप ऑफ इन्स्टीट्यूशन द्वारा कूकस में आयोजित ‘ग्लोबल हैकथॉन-इनोवेशन एण्ड स्टार्टअप ‘ के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वैश्विक स्तर पर बढ़ती प्रतिस्पर्धा के दौर में सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार सहित तकनीक के सभी क्षेत्रों में नित नए बदलाव आ रहे हैं। युवाओं को इन तकनीकी बदलावों के लिए तैयार करते हुए नए-नए स्टार्टअप शुरू करने के लिए प्रोत्साहित किये जाने की जरूरत है।

मिश्र ने कहा कि देश की नई शिक्षा नीति में व्यवहारोन्मुखी और कौशल आधारित व्यावसायिक शिक्षा प्रदान करने पर बल दिया गया है, ताकि विद्यार्थियों में विभिन्न विषयों की बुनियादी समझ तो विकसित हो ही, साथ ही वे उद्योगों की जरूरत के मुताबिक विषय-विशेष में पारंगत भी बन सकें।

मिश्र ने युवाओं का आह्वान किया कि वे रोजगार खोजने के बजाय रोजगार देने वाले बनें। छोटे रूप में भी प्रारंभ किया गया स्टार्टअप यदि कड़ी मेहनत, नवाचार और दूरगामी सोच के साथ संचालित किया जाए तो वह देशभर में पहचान बना सकता है। उन्होंने हैकथॉन के आयोजन के लिए साधुवाद देते हुए कहा कि इससे युवाओं को तकनीकी क्षेत्र में नवाचार के लिए सामूहिक रूप से कार्य अनुभव के साथ भविष्य की दिशा तय करने का अवसर मिलेगा।

तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि तकनीकी क्षेत्र में कार्य कर रहे युवाओं को वैश्विक बदलावों को अपनाते हुए अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए तैयार करने की जरूरत है। भारतीय संविधान हमारे लोकतंत्र का मूल ग्रंथ है। नागरिकों को जागरूक करने के लिए संविधान की उद्देश्यिका और कर्तव्यों का वाचन कराने की राज्यपाल की पहल सराहनीय है।

मैनेज, हैदराबाद के महानिदेशक डॉ. पी. चन्द्रशेखर ने कृषि के क्षेत्र में सूचना प्रौद्योगिकी के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए कृषि नवाचारों को भी हैकथॉन में शामिल किये जाने का सुझाव दिया। राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर.ए.गुप्ता ने अपने संबोधन में विश्वविद्यालय की शैक्षणिक गतिविधियों तथा शंकरा ग्रुप ऑफ इन्स्टीट्यूशन के अध्यक्ष संत कुमार चौधरी ने दो दिवसीय इस हैकथॉन के आयोजन के उद्देश्यों के बारे में जानकारी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *