jayapur (jaipur) mein bhateeje (nephew) ne kee thee chaacha (chacha/uncle) kee hatya, hatyaare bhateeje kee nishaanadehee par gaada gaya shav (dead body) nikaala

जयपुर (Jaipur) में भतीजे (Nephew) ने की थी चाचा (Chacha/uncle) की हत्या, हत्यारे भतीजे की निशानदेही पर गाड़ा गया शव (dead Body) निकाला

जयपुर

जयपुर (Jaipur) में भांकरोटा थाना इलाके के सिरसी रोड पर स्थित एक मकान में शराब पार्टी के दौरान अंडमान निकोबार के रहने वाले एक कारोबारी की उसके ही भतीजे (Nephew) ने आपसी रंजिश के चलते हत्या कर दी। मामले में लोहे की रॉड से चाचा (Chacha/uncle) के सिर पर वार कर उसे लहूलुहान किया गया और उसके बाद तार (वायर) से गला घोंटकर उसे मौत के घाट उतारा।

आरोपितों द्वारा हत्या के बाद शव (dead Body) को नष्ट करने के लिए उसे प्लास्टिक की कट्टे में नमक डालकर बांधा और भांकरोटा इलाके में सुनसान जगह गड्ढा खोदकर दफना दिया। पुलिस ने हत्यारे भतीजे व उसके एक दोस्त को पकड़ा और उनकी निशानदेही पर शव बरामद किया। पुलिस ने एफएसएल टीम की मदद से साक्ष्य जुटाने के बाद पोस्टमार्टम के लिए शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है।

वैशाली नगर सहायक पुलिस आयुक्त रायसिंह बेनीवाल ने बताया कि मृतक कारोबारी शशि अग्रवाल (50) अंडमान निकोबार का रहने वाला था और उसने सिरसी रोड पर मनसा नगर पर स्थित एक मकान में अपने भतीजे राज अग्रवाल (23) के साथ शराब पार्टी की। शराब पार्टी के दौरान आपसी रंजिश के चलते राज अग्रवाल ने अपने चाचा शशि अग्रवाल को उसके सिर पर लोहे की रॉड मारकर उसे लहुलुहान कर दिया। फिर जमीन पर गिरते ही वायर से उसका गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी।

उसके बाद भतीजे राज ने प्लास्टिक के कट्टे में चाचा के शव को डाला और शव को गलाने के लिए ऊपर से नमक भी डाल दिया। ऑनलाइन ऐप के जरिए उसने किराए पर मंगाई कार की डिग्गी में शव को डालने के बाद अपने दोस्त प्रकाश, लक्की और बौनी के साथ कार लेकर शहर में घूमता रहा।

भांकरोटा इलाके में नाईवाला स्थित जेडीए की आनंद विहार आवासीय योजना में दोस्तों के साथ मिलकर फावड़े व कुदाली से करीब चार फीट का गड्ढा खोदा और शव को इस गड्ढे में डालकर दबा दिया। शव को लेकर पहुंचने के दौरान काफी दूर खड़े एक चरवाहे ने बदमाशों को शव घसीट कर ले जाते हुए देखा। उसने तुरंत पास ही कॉलोनी में जाकर लोगों को इस बारे में बताया।

कुछ लोग आनंद विहार आवासीय योजना स्थित टीले पर पहुंचे, जब तक बदमाश शव को दफनाकर वापस लौट रहे थे। लोगों को देखकर चारों वहां से भागे लेकिन लोगों ने पीछा कर भतीजे राज और उसके दोस्त प्रकाश को पकड़ लिया, जबकि लक्की और बौनी भागने में कामयाब हो गए। सूचना पर भांकरोटा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों युवकों को उनके हवाले कर दिया।

पकड़े गए दोनों युवक पुलिस को इधर-उधर की बात करके गुमराह करते रहे। लाश घसीटकर ले जाने के संबंध में सख्ती से पूछताछ करने पर भतीजे राज अग्रवाल ने अपना जुर्म कबूल किया और दोस्तों के साथ मिलकर चाचा शशि अग्रवाल की लाश गाड़ना बताया। जिस पर गुरुवार सुबह दोनों आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने गड्ढा खोदकर लाश को बाहर निकाला। सूचना पर पहुंची एफएसएल टीम की मदद से साक्ष्य जुटाए, जिसके बाद शव को अस्पताल की मोर्चरी भिजवाया। पुलिस ने हत्या के मामले में आरोपित भतीजे व उसके दोस्त प्रकाश को गिरफ्तार कर वारदात में प्रयुक्त कार को जब्त किया है। वारदात में शामिल फरार दोनों दोस्तों की पुलिस तलाश कर रही है।


	

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *