JDA ki Sikar road par agriculture land par bani factories par karyawahi

जेडीए(JDA)की सीकर रोड(Sikar Road)पर कृषि भूमि(agriculture land)पर बनी फैक्ट्रियों पर कार्रवाई

जयपुर

जयपुर में अब अवैध व्यावसायिक कॉलोनियां भी बसाई जा रही है। जेडीए (JDA) ने बुधवार को सीकर रोड (Sikar Road) पर ऐसी ही दो व्यावसायिक कॉलोनियों पर कार्रवाई की। जेडीए अधिकारियों का कहना है कि अब ऐसी अवैध फैक्ट्रियों की भी जांच कराई जाएगी, जो कृषि भूमि (agriculture land) पर बनी है।

जेडीए के प्रवर्तन दस्ते द्वारा जोन-2 में सीकर रोड़ पर स्थित वी.के.आई (VKI) क्षेत्र से लगती हुई ग्राम-अखेपुरा रोड़ नं. 19 के पास खसरा नम्बर 331, 323 करीब 8 बीघा निजी खातेदारी भूमि पर व्यावसायिक कॉलोनी बसाने के प्रयास को विफल किया। यहां फैक्ट्रियों के लिए बनायी जा रही बाउंड्रीवाल, ग्रेवल सड़कें व अन्य अवैध निमार्णों को ध्वस्त किया गया।

ऐसी ही एक कार्रवाई सीकर रोड़ पर वी.के.आई क्षेत्र से लगती हुई ग्राम-बिशनपुरा में की गई। यहां रोड़ नं. 18 के पास खसरा नं. 417 में करीब 6 बीघा निजी खातेदारी भूमि पर अवैध व्यावसायिक कॉलोनी बसाने के प्रयास हो रहे थे। यहां बनाई जा रही ग्रेवल सड़कें, बाउंड्रीवाल व अन्य अवैध निमार्णों को ध्वस्त किया गया।

मुख्य नियंत्रक प्रवर्तन रघुवीर सैनी ने बताया कि सीकर रोड पर वीकेआई के आस-पास के इलाकों में खातेदारों द्वारा अवैध रूप से कॉमर्शियल कॉलोनी बनाने की प्रवृत्ति रही है। नियमानुसार कृषि भूमि पर फैक्ट्रि एरिया का निर्माण नहीं किया जा सकता है। ऐसे में जोन अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वह ऐसी फैक्ट्रियों की सूचनाएं संकलित करें, ताकि उनपर कार्रवाई की जा सके।

सैनी ने बताया कि इसके अलावा जोन-8 में सांगानेर में स्थित गोपाल जी की तलाई के पास करीब 2 बीघा निजी खातेदारी भूमि पर गुलाब विहार के नाम से कॉलोनी बसाने का प्रयास विफल किया गया। जोन-13 में दिल्ली बाईपास रोड़ ग्राम-लक्ष्मीनारायणपुरा में करीब 5 बीघा निजी खातेदारी भूमि पर आवासीय कॉलोनी बसाने के लिए बनायी गई ग्रेवल सड़के, बाउंड्रीवाल को ध्वस्त किया गया। जोन-पीआरएन (साउथ) में 200 फीट मुख्य न्यू सांगानेर रोड़ पर क्यू ब्लॉक के कोने पर मैरीज गार्डन द्वारा लंबे समय से रोड़ सीमा पर अतिक्रमण कर बनायी गई करीब 300 फीट लंबी व 15 फीट चौडी बाउंड्रीवाल, कमरे, गेट आदि को ध्वस्त किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *