जोधपुररोजगार

जोधपुर मेगा जॉब फेयर में साढ़े चार हजार से अधिक युवाओं को मिला नौकरी का ऑफर

जोधपुर में लगाये गये मेगा जॉब फेयर में साढ़े चार हजार से अधिक युवाओं का नौकरी के लिए चयन किया गया है। यह जानकारी देते हुए राजस्थान के कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता राज्यमंत्री अशोक चांदना ने कहा कि राजस्थान युवाओं को निजी और सरकारी क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध कराने वाला देश का अग्रणी राज्य है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने विशेष नीतियां बनाकर निजी क्षेत्र में निवेश के लिए अनुकूल माहौल बनाया है, जिससे बड़े स्तर पर रोजगार के अवसर सृजित हो रहे हैं।
चांदना जोधपुर के राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज ग्राउंड में आयोजित दो दिवसीय मेगा जॉब फेयर के अंतिम दिन युवाओं को संबोधित कर रहे थे। चांदना ने युवाओं से संवाद करते हुए रोजगार प्राप्त करने वाले युवाओं को ऑफर लेटर प्रदान किए। उन्होंने कहा कि देश में बेरोजगारी आज सबसे बड़ी समस्या है, जिसके निवारण के लिए मुख्यमंत्री गहलोत ने युवाओं को रोजगार देने का बीड़ा उठाया है। इसके लिए प्रदेश में एक सौ जॉब फेयर लगाए जाएंगे। इससे पहले विभिन्न स्थानों पर सात जॉब फेयर लगाकर 26 हजार से अधिक युवाओं को रोजगार दिया जा चुका है। इसी संदर्भ में जोधपुर में लगाये गये जॉब फेयर में भी साढ़े चार हजार से अधिक युवाओं का नौकरी के लिए चयन किया गया है, जो सराहनीय है। चांदना ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत महंगाई राहत शिविर के माध्यम से विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ आमजन को पहुंचाना सुनिश्चित कर रहे हैं, जिससे प्रदेश में बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक को सशक्त किया जा सकेगा।
आरएसएलडीसी ने 4 कम्पनियों के साथ किये एमओयू
कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता विभाग के शासन सचिव श्री पीसी किशन ने बताया कि इस जॉब फेयर के लिए 35 हजार युवाओं ने रजिस्ट्रेशन करवाया था, जिसमें से 11 हजार 500 युवा इंटरव्यू देने पहुंचे। विभिन्न कम्पनियों ने इन्टरव्यू लेकर 4 हजार 622 युवाओं का नौकरी के लिए चयन कर उन्हें ऑफर लेटर सौंपे। कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता विभाग की आयुक्त सुश्री रेणु जयपाल ने कार्यक्रम के अंत में आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम (आरएसएलडीसी) ने धोने इंडिया सर्विस प्राइवेट लिमिटेड, एम्पल्योबिलीटी ब्रिज, वेल्स्पन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड एवं अनिल अग्रवाल फाउंडेशन के साथ युवाओं को रोजगार मुहैया कराने के लिए एमओयू किया।
जोधपुर के विवेक को मिला सर्वाधिक 9 लाख का पैकेज

जोधपुर की रहने वाली दिव्यांग संगीता को एसजीएम कंपनी ने जॉब लेटर दिया वहीं गुडामालानी बाड़मेर के रहने वाले दिव्यांग पोखराराम को शाकंभरी मार्केटिंग पैकिंग एंड डिस्ट्रीब्यूटिंग कंपनी ने बाड़मेर में जॉब करने का ऑफर लेटर दिया। कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता राज्यमंत्रीअशोक चांदना ने मंच से नीचे आकर इन दोनों को अपने हाथों से ऑफर लेटर प्रदान किया और उनके मजबूत इरादों की सराहना करते हुए उत्साहवर्धन किया।
जॉब फेयर में जोधपुर निवासी विवेक को सर्वाधिक 9 लाख रुपए वार्षिक का पैकेज मिला। आदियोगी टेक्नोसॉफ्ट प्राइवेट लिमिटेड ने उन्हें सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में जॉब ऑफर की। विवेक को यह नौकरी उनके खुद के शहर जोधपुर में करने का अवसर मिलेगा।
जॉब फेयर के समापन के अवसर पर राज्य मेला प्राधिकरण के उपाध्यक्ष रमेश बोराणा, शहर विधायक मनीषा पंवार, रीको के स्वतंत्र निदेशक सुनील परिहार, राजस्थान संगीत नाटक अकादमी के अध्यक्ष बिनाका जेश मालू, बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष धनपत गुर्जर, संभागीय आयुक्त कैलाश चंद मीणा, अतिरिक्त जिला कलेक्टर शहर प्रथम डॉ भास्कर बिश्नोई, आरएसएलडीसी के प्रबंध निदेशक खेमाराम यादव, रोजगार निदेशालय के निदेशक धर्मपाल मीणा सहित अन्य जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ अधिकारी, हजारों की संख्या में आए युवा उपस्थित रहे।

Related posts

पीटीईटी परीक्षा 21 मई को.. परीक्षार्थियों को दो घंटे पहले पहुंचना होगा परीक्षा केन्द्र, सुबह 10 बजे बाद नहीं मिलेगा प्रवेश

Clearnews

भक्तों के बिना मंदिरों में निकली रथ यात्राएं

admin

भर्ती होंगे 195 ईसीजी टेक्नीशियन

admin