कोटापर्यटन

चम्बल रिवर फ्रंट से लगेंगे प्रदेश के पर्यटन को पंख देश-दुनिया के पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र बनेगी यहां की कला और भव्यता

राजस्थान को मंगलवार को चम्बल रिवर फ्रंट की सौगात मिली। कोटा शहर में लगभग 1400 करोड़ रुपये की लागत से विकसित देश के पहले हैरिटेज रिवर फ्रंट का लोकार्पण विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी ने नगरीय विकास एवं आवासन मंत्री शांति धारीवाल की उपस्थिति किया। राज्य सरकार के कई मंत्रियों के साथ ही विभिन्न बोर्ड-निगम-आयोग अध्यक्ष एवं विशिष्ट लोग इस ऐतिहासिक पल के गवाह बने। कोटा बैराज से नयापुरा पुलिया तक तक 2.75 किलोमीटर लम्बाई में विकसित चम्बल रिवर फ्रंट को अवलोकन कर सभी गणमान्य अभिभूत नजर आए।
विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी ने कहा कि राजस्थान के लिए यह गौरव का विषय है कि इस तरह का ऐतिहासिक कार्य कोटा में हुआ है। जो भी पर्यटक यहां आएंगे वे यहां की खूबसूरती को आजीवन याद रखेंगे। शिक्षा मंत्री डॉ बीडी कल्ला ने कहा कि चम्बल रिवर फ्रंट ने राज्य में विकास की एक नई इबारत लिखी है। यह रिवर फ्रंट पर्यटन की दृष्टि से मील का पत्थर साबित होगा। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री परसादीलाल मीणा ने कहा कि राज्य सरकार विकास कार्यों में कोई कमी नहीं रख रही है। कोटा में विकसित चम्बल रिवर फ्रंट ना केवल पर्यटन और कला की दृष्टि से महत्वपूर्ण है बल्कि राजस्थान की गंगा-जमुनी तहजीब की भी मिसाल है। कृषि मंत्री श्री लालचंद कटारिया ने कहा कि वे चंबल रिवर फ्रंट के विभिन्न घाटों का अवलोकन कर अभिभूत हैं। उन्होंने कहा कि जो भी देशी-विदेशी पर्यटक यहां आएंगे उनके जेहन में लंबे समय तक यादें ताजा रहेंगी।
सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने कहा कि राज्य विकास के पद पर निरंतर आगे बढ़ रहा है। चंबल रिवर फ्रंट इसी की एक मिसाल है। यह देश-दुनिया के पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनेगा। उद्योग मंत्री शकुंतला रावत ने कहा कि चंबल रिवर फ्रंट के बारे में जितना सुना था उससे कहीं बढ़कर पाया है। यहां पूरे विश्व की संस्कृति के दर्शन हो रहे हैं। यहां ऐतिहासिक कार्य हुआ है जो सदियों तक याद रखा जाएगा। महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश ने कहा कि वसुधैव कुटुंबकम की संकल्पना को साकार करता यह रिवर फ्रंट राजस्थान की लोक संस्कृति भी प्रमुखता से दर्शाता है। राजस्थान पर्यटन सहित हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है। चंबल रिवर फ्रंट से पर्यटन के साथ ही स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर भी खुलेंगे।
राजस्व मंत्री रामलाल जाट ने कहा कि कोचिंग सिटी के तौर पर पहचान रखने वाला कोटा अब चम्बल रिवर फ्रंट के लिए भी देश-दुनिया में जाना जाएगा। सार्वजनिक निर्माण मंत्री श्री भजनलाल जाटव ने कहा कि चंबल रिवर फ्रंट का कार्य अद्भुत और अकल्पनीय है। यहां निर्मित हर एक घाट और हर एक इमारत आकर्षित करने वाली है। चंबल माता की विशालकाय मूर्ति विशेष रूप से आकर्षित करती है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री टीकाराम जूली ने कहा कि भविष्य में चंबल रिवर फ्रंट प्रमुख पर्यटन केन्द्र के रूप में उभरेगा। बड़ी संख्या में सैलानी हर साल यहां आएंगे जो यहां से खूबसूरत यादें लेकर जाएंगे।
इस अवसर पर राज्य मंत्रिपरिषद् के अन्य सदस्यों, विभिन्न बोर्ड-निगम-आयोग अध्यक्षों, विधायकों एवं अन्य विशिष्टजनों ने भी चम्बल रिवर फ्रंट को कला एवं पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण बताते हुए यहां हुए विकास कार्यों की सराहना की।

Related posts

35 करोड़ रुपए जयपुर के गलता पीठ मंदिर परिसर का होगा जीर्णोद्धार..दिल्ली रोड स्थित नाग तलाई नाले की होगी मरम्मत तथा कवरिंग

Clearnews

फिर टल गए नगर निगमों के चुनाव

admin

दीक्षा एप के जरिए होगा शिक्षकों का डिजिटल प्रशिक्षण

admin