चंडीगढ़विज्ञान

दिवंगत पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की माँ IVF तकनीक के ज़रिये 58 वर्ष की उम्र में हुईं प्रेग्नेंट

दिवंगत पंजाबी सिंगर शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ ​​​​सिद्धू मूसेवाला इस दुनिया में नहीं हैं। लेकिन उनके चाहने वालों के लिए खुशखबरी है। सिद्धू मूसेवाला की मां चरण कौर 58 साल की उम्र में प्रेंग्नेट हैं और अगले महीने उनके घर नन्हे बच्चे की किलकारी गूंजने वाली है। इस खबर से एक बार फिर तकनीक चर्चा में आ गयी है।
पारिवारिक सूत्रों के अनुसार, दिवंगत पंजाबी संगीतकार शुभदीप सिंह सिद्धू, जिन्हें सिद्धू मूसेवाला के नाम से जाना जाता है, के माता-पिता कथित तौर पर एक बच्चे की उम्मीद कर रहे हैं। सिद्धू मूसेवाला की मां चरण कौर 58 साल की उम्र में आईवीएफ (IVF) के जरिए प्रेंग्नेट हैं और अगले महीने उन्हें गहर नन्हे बच्चे की किलकारी गूंजने वाली है। सिद्धू मूसेवाला की मां चरण कौर प्रेंग्नेट और बच्चे को जन्म देने वाली है। मूसेवाला की मां चरण कौर जल्द ही बच्चे को जन्म देने वाली हैं। पारिवारिक सूत्रों ने इस खबर की पुष्टि की। उनके पिता साठ वर्ष के हैं, और उनकी माँ अट्ठाईस वर्ष की हैं।
क्या है IVF तकनीक
बच्चा न होने की वजह से परेशान कपल्स या किसी भी हेल्थ इश्यूज से जूझ रहीं महिलाओं के लिए टेस्ट ट्यूब बेबी एक उम्मीद की किरण है। महिलाओं में फैलोपियन ट्यूब होता है, जो गर्भधारण करने के लिए एग और स्पर्म को मिलाकर ओवरी तक पहुंचाता है।
एग और स्पर्म को मां के गर्भ में विकसित करने की बजाय लेबोरेटरी में विकसित करने की प्रोसेस ही इन विट्रो फर्टिलाइजेशन यानी आईवीएफ कहलाती है। इस तरह तैयार भ्रूण को फाइन प्लास्टिक ट्यूब के जरिए महिला के गर्भाशय में प्रतिरोपित किया जाता है। इस प्रोसेस को लगभग दो से तीन हफ्ते का समय लगता है। इनमें स्टैंडर आईवीएफ, इक्सी और इस्सी पद्धति टेक्निक है।
क्यों लिया यह फैसला
दरअसल सिद्धू मूसेवाला अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था और उसकी हत्या के बाद उसके बुजुर्ग माता-पिता का कोई सहारा इस दुनिया में नहीं रह गया। जिसके बाद बेऔलाद जिन्दगी ना जीना पड़े उनकी मां ने आईवीएफ के माध्यम से गर्भवती हुई है और अगले महीने यानी मार्च में बच्चे को जन्म देने वाली है। घर में नए मेहमान के आने को लेकर सिद्धू मूसेवाला की माता-पिता दोनों काफी खुश हैं। सिद्धू मूसेवाला के पिता ने कहा कि हम भगवान के शुक्रगुजार हैं कि हमारे आंगन में नई जिंदगी आ रही है।
गौरतलब है कि 29 मई, 2022 को पंजाब के मनसा जिले में मूसेवाला की उनकी थार कार पर 2 कारों में सवार शूटरों ने 30 राउंड से ज्यादा फायरिंग कर हत्या कर दी थी। अस्पताल ले जाने के बावजूद, चिकित्सा सहायता मिलने से पहले ही उन्होंने दम तोड़ दिया।गोलीकांड के बाद हमले की जिम्मेदारी गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बरार ने ली। फिलहाल मामले में विदेश में बैठे गैंगस्टर सचिन विश्नोई और गोल्डी बराड़ अब तक पुलिस की पकड़ से बाहर हैं जिनकी पुलिस को तलाश है।
मूसेवाला की हत्या के बाद से, उसके माता-पिता अपने बेटे के लिए न्याय मांगने के लिए एक आंदोलन का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्होंने मनसा से कांग्रेस के टिकट पर पंजाब विधानसभा चुनाव लड़ा था लेकिन असफल रहे।

Related posts

हरियाणा सीएम खट्टर की खरी-खरी, नूह हिंसा में हुए नुकसान की भरपाई दंगाई ही करेंगे

Clearnews

न्यूक्लियर पावर गैलरी की स्थापना के लिए एमओयू का अनुमोदन

admin

किसानों आंदोलन 2.O: देशभर में रेल रोको आंदोलन 10 मार्च को

Clearnews