Man arrested from Rishikesh for cheating villagers of Rs 25 lakhs

ग्रामीणों (villagers) से 25 लाख (Rs 25 lakhs) रुपये की ठगी करने वाला ऋषिकेश (Rishikesh) से गिरफ्तार (arrested)

क्राइम न्यूज़ जयपुर


ऋषिकेश में बैंक खाता खुलवाकर ठगी की रकम कर रहा था शेयर मार्केट में इन्वेस्ट

जयपुर ग्रामीण पुलिस ने अचरोल और आस पास के इलाके में ग्रामीणों (villagers) को झांसा देकर 25 लाख रुपये (Rs 25 lakhs) की ठगी करने के आरोपी सत्येंद्र शाह को ऋषिकेश (Rishikesh) से गिरफ्तार (arrested) किया है। आरोपी दिल्ली का रहने वाला है और अलग-अलग स्थानों पर किराए पर घर लेकर, फर्जी कागजात से कंपनियां खोलकर लोगों के पैसे उस कंपनी में इन्वेस्ट कराता था और मौका देखकर रफूचक्कर हो जाता था।

जिला पुलिस अधीक्षक जयपुर ग्रामीण शंकरदत्त शर्मा ने बताया कि 29 जुलाई 2021 को चंदवाजी निवासी गिरधारी लाल मीणा ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि सत्येंद्र शाह नाम के व्यक्ति ने विंग्स टू लाइफ कंपनी खोलकर आवासीय योजना में सब्सिडी दिलाने, गांवों में पानी के टैंकर की व्यवस्था कराने और ई-रिक्शा दिलाने के का झांसा देकर रजिस्ट्रेशन के नाम पर चंदवाजी, अचरोल व आस-पास के ग्रामीणों से कंपनी के खाते में करीब 25 लाख रुपये जमा कराए और उसके बाद वह अचानक फरार हो गया।

रिपोर्ट दर्ज होने के बाद थाना चंदवाजी में एक विशेष टींम गठित की गई। विशेष टीम ने मुखबिरों और साइबर तकनीक का प्रयोग कर फरार सत्येंद्र शाह की लोकेशन तपोवन, ऋषिकेश में ट्रेस की। पुलिस टीम ने तीन दिनों तक ऋषिकेश में सत्येंद्र के घर की निगरानी की। शुक्रवार सुबह वह घर से बाहर निकला तो टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। अभियुक्त तपोवन में किराए का मकान लेकर परिवार सहित निवास कर रहा था। वह वहां अपने पुत्र के नाम से तपोवन ऋषिकेश के पहचान पत्र से बैंक खाता खुलवाकर ठगी की राशि शेयर मार्केट में निवेश करने में लगा था।

शर्मा ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में सत्येंद्र ने बताया कि उसकी कंपनी विंग्स टू लाइफ का धरातल पर कोई अस्तित्व नहीं है। वह अलग-अलग जगहों पर किराए के मकान लेकर, फर्जी दस्तावेज बनवाकर ठगी की वारदात करता है, जिसका वह स्वयं निदेशक होता है। विभिन्न प्रकार के झांसे देकर भोले-भाले लोगों से कंपनी में निवेश कराता है और फिर अचानकर रफूचक्कर हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.