जयपुर

जयपुर नगर निगम ग्रेटर के बजट अभिभाषण पर छाए मोदी

जयपुर। नगर निगम ग्रेटर के बजट अभिभाषण की बुकलेट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छा गए हैं। नगर निगम के इतिहास में पहली बजट अभिभाषण की कॉपी पर प्रधानमंत्री की फोटो लगाई गई है। प्रधानमंत्री की फोटो कवर पेज पर देखकर भाजपा पार्षद गदगद हो रहे हैं और कह रहे हैं कि यह मोदी जी का जलवा है कि अब निगम की बुकलेटों पर भी उनकी तस्वीर छापी जाएगी। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस पार्षदों को तो यह पता ही नहीं चल पाया कि कवर पेज पर छपी फोटो में क्या खेल हो गया।

निगम सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बजट अभिभाषण की कॉपी पर लगी फोटो में इस बार खेल हुआ है। कहा जा रहा है कि ग्रेटर में भाजपा का बोर्ड होने के कारण अभिभाषण की कॉपी से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल की फोटो हटा दी गई थी और सिर्फ महापौर सौम्या गुर्जर की ही फोटो लगाई गई थी। महापौर की फोटो भी वह लगाई गई थी, जिसकी पृष्टभूमि में भाजपा प्रदेश कार्यालय दिखाई दे रहा था।

सूत्र बताते हैं कि अभिभाषण बुकलेट का प्रूफ तैयार होने के बाद जांच के लिए इसकी फाइल आयुक्त के पास पहुंची। प्रूफ में मुख्यमंत्री और स्वायत्त शासन मंत्री का फोटो गायब देख आयुक्त के कान खड़े हो गए। उन्होंने कवर पेज देखते ही आपत्ति उठा दी। आपत्ति महापौर की फोटो के पृष्टभूमि में दिखाई दे रहे भाजपा कार्यालय पर भी उठाई गई। आयुक्त ने मुख्यमंत्री और मंत्री की फोटो कवर पेज पर लगाने के निर्देश भी दिए बताते हैं।

आयुक्त की आपत्तियों को देखकर नाराजगी होना स्वाभाविक था। ऐसे में आनन-फानन में कवर पेज पर मुख्यमंत्री और स्वायत्त शासन मंत्री की फोटो लगाई गई, लेकिन साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी फोटो लगा दी गई। अब भाजपा की ओर से दलील दी जा रही है कि नगर निगम को 15वें वित्त आयोग से सीधे केंद्र से भी पैसा मिलता है, इसलिए हम प्रधानमंत्री की फोटो भी लगा सकते हैं।

Related posts

जिनोम सीक्वेंसिंग (genome sequencing) से हुई 9 व्यक्तियों में ओमीक्रोन वायरस (Omicron virus) मिलने की पुष्टि, कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग (contact tracing) कर संपर्क में आए व्यक्तियों को किया आइसोलेट

admin

राजस्थानः मतदान दिवस से 48 घण्टे पहले और मतदान समाप्ति तक रहेगा सूखा दिवस

Clearnews

राजस्थान उच्च न्यायालय ने लेवल-2 रद्द करने पर जताई नाराजगी: कहा जब एक ही एजेंसी ने दोनों परीक्षा कराई तो लेवल-2 ही रद्द क्यों, सरकार से मांगा जवाब

admin