जोधपुरधर्म

मोक्षदा एकादशी 2023 : शुक्रवार, 22 दिसंबर को व्रत करें इस साल की अंतिम एकादशी का

हर साल कुल 24 एकादशी व्रत मनाए जाते हैं, 12 शुक्ल पक्ष के लिए और 12 कृष्ण पक्ष के लिए। हर व्रत के लिए अलग-अलग एकादशी व्रत कथा होती है। मार्गशीर्ष महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को मोक्षदा एकादशी के रूप में मनाया जाता है। मोक्षदा एकादशी साल 2023 की अंतिम एकादशी होगी। अपने नाम के अनुसार, यह तिथि मोक्ष प्राप्ति में सहायक है। इस दिन श्रीहरि विष्णु की विधिवत पूजा अर्चना से पूर्वजों को भी मुक्ति मिलती है। आइये जानते हैं साल 2023 में मोक्षदा एकादशी (शुक्रवार, 22 दिसंबर) की सही तिथि और मुहूर्त क्या है..?
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मोक्षदा एकादशी के दिन पूजा करने से पितर भी प्रसन्न होते हैं और मोक्ष के द्वार खुलते हैं। इस साल मोक्षदा एकादशी की डेट को लेकर लोगों के मन में काफी कंफ्यूजन है। ऐसे में आइए जानते हैं किस दिन रखा जाएगा मोक्षदा एकादशी का व्रत?
मोक्षदा एकादशी का कब करें व्रत
मोक्षदा एकादशी का व्रत मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि के दिन रखा जाता है। पंचांग के अनुसार इस साल यह तिथि 22 दिसंबर को सुबह 8 बजकर 16 मिनट पर शुरू होगी और इसका समापन 23 दिसंबर को सुबह 7 बजकर 11 मिनट पर होगा। ऐसे में लोगों को कंफ्यूजन है कि मोक्षदा एकादशी का व्रत 22 दिसंबर को रखा जाएगा 23 दिसंबर को।
हिंदू धर्म में एकादशी का व्रत उदयातिथि के अनुसार रखा जाता है, इसके अनुसार गृहस्थ (स्मार्त संप्रदाय) लोग 22 दिसंबर को एकादशी का व्रत करेंगे। वहीं वैष्णव संप्रदाय के लोग, संत-सन्यासी 23 दिसंबर को मोक्षदा एकादशी का व्रत करेंगे।

Related posts

महंत नृत्य गोपाल दास से अस्पताल मिलने पहुंचे योगी आदित्यनाथ

admin

निस्संदेह..मस्जिद से पहले था विशाल हिंदू मंदिर, पिलर में क्या था, एएसआई की रिपोर्ट में 10 खुलासे

Clearnews

शनिवार शाम को जयपुर मे माहौल हुआ भक्तिमय, जौहरी बाजार में किया गया सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ

Clearnews