Jaipur nagar nigam came into lime light when 3 person were in thepremises asking for joining with forged offer letters

नगर निगम में संसाधनों के बंटवारे की प्रक्रिया तेज

कोरोना जयपुर

जयपुर। जयपुर नगर निगम को दो हिस्सों ग्रेटर और हैरिटेज में बांटने के बाद अब निगम के संसाधनों के बंटवारे की प्रक्रिया तेज हो चली है। बंटवारे को लेकर रोज बैठकें की जा रही है और अधिकारी संसाधनों के वितरण की तैयारी में लगे हैं।

हाल ही में निगम में अधिशाषी अभियंता, सहायक अभियंता, कनिष्ठ अभियंता और सेनेटरी इंस्पेक्टरों के वाहनों में कटौती कर दी गई थी। निगम अधिकारियों का कहना है कि दोनों निगमों में अधिकारियों-कर्मचारियों के बंटवारे की प्रक्रिया चल रही है। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद देखा जाएगा कि कौन अधिकारी-कर्मचारी किस निगम में गया है। उन्हें उसी हिसाब से गाड़ियों का फिर से आवंटन किया जाएगा।

निगम सूत्रों का कहना है कि कोरोना लॉकडाउन के कारण निगम की राजस्व शाखा में काम नहीं हो पाया और राजस्व की तंगी के चलते भी गैर जरूरी वाहनों की कटौती की गई है। रिव्यू के बाद यह वाहन फिर से अधिकारियों को दे दिए जाएंगे।

मशीनों का भी होगा बंटवारा

निगम के अतिरिक्त आयुक्त अरुण गर्ग ने मंगलवार को निगम की विभिन्न शाखाओं के अधिकारियों की बैठक लेकर मशीनरी और वाहनों के बंटवारे पर चर्चा की है। बैठक में दोनों निगमों को उपलब्ध कराए जाने वाली मशीनरी और वाहनों पर चर्चा की गई। इसके बाद दोनों निगमों में सफाई काम में आने वाली मशीनरी, वाहन, सीवर सफाई में काम आने वाली मशीनरी, अग्निशमन वाहनों व अधिकारियों के वाहनों के बंटवारे की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।