, Nandishalas will be built for Nandis in Rajasthan, 102 ambulance service will start at district headquarters for the treatment of animals

राजस्थान में अब छुट्टे नहीं घूमेंगे, नंदियों के लिए बनेंगी नंदीशालाएं(Nandishalas), पशुओं के उपचार के लिए जिला मुख्यालयों पर 102 एम्बुलेंस (ambulance)सेवा शुरू होगी

जयपुर

राजस्थान में अब नंदी छुट्टे नहीं घूमेंगे, उन्हें नंदीशालाओं (Nandishalas) में रखा जा सकेगा। खान एवं गोपालन मंत्री प्रमोद जैन “भाया” ने कहा है कि राज्य में प्रत्येक पंचायत समिति स्तर पर एक करोड़ 57 लाख रुपये की लागत से नंदीशाला का निर्माण किया जायेगा, जिसके तहत 10 प्रतिशत अंशदान संबंधित संस्थान एवं 90 प्रतिशत अंशदान गोपालन विभाग द्वारा व्यय किया जायेगा। इसके अलावा पशुओं के उपचार के लिए जिला मुख्यालयों पर 102 एम्बुलेंस (ambulance)सेवा शुरू होगी

गोपालन मंत्री बीते दिनो चूरू जिले के श्रीबालाजी गौशाला संस्थान सालासर में आयोजित कार्यक्रम में चूरू जिले के गौशाला संचालकों एवं गोपालन विभाग के अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य में गौशाला संचालकों की मांग पर राज्य सरकार द्वारा छोटे पशु के लिए 16 से 20 रुपये एवं बड़े पशु के लिए 32 से 40 रुपये अनुदान स्वीकृत किया गया है। उन्होंने कहा कि गौशाला अनुदान के लिए आवेदन की प्रक्रिया को सरल व ऑनलाइन किया गया है तथा प्रत्येक गौशाला में 200 गायों की सीमा को घटाकर 100 किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में नंदियों के संरक्षण हेतु एक वर्ष में 9 माह का अनुदान तथा गौशालाओं के लिए एक वर्ष में 6 माह के अनुदान की जगह 9 माह का अनुदान दिया जायेगा। 

गोपालन मंत्री ने कहा कि राज्य में बीमार पशुओं के उपचार के लिए प्रत्येक जिला मुख्यालय पर 102 एम्बुलेंस सेवा शुरू की जा रही है तथा गौशाला विकास योजनान्तर्गत अभियान चलाकर गौशाला विकास कार्यों को अंजाम दिया जायेगा। उन्होंने गौशाला संचालकों को विश्वास दिलाया कि राज्य में गौ संरक्षण एवं संवद्र्धन के लिए राज्य सरकार उदार मन से कार्य करने हेतु संकल्पित है। उन्होंने कहा कि राज्य में बीमार गौवंश के उपचार के लिए माकूल चिकित्सा व्यवस्था, गौशाला भूमि पर अतिक्रमण हटाने एवं गौचर भूमि विकास के लिए गौशाला संचालकों की सहायता से कारगर कदम उठाये जायेंगे।

गोपालन विभाग की सचिव आरूषि मलिक ने कहा कि राज्य में गौशाला निर्माण के लिए राज्य सरकार द्वारा 10 लाख रुपये दिये जा रहे है, जिसके तहत कैटल शैड, पानी की टंकी व टीन शैड निर्माण, चार दिवारी निर्माण के कार्य करवाये जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि आगामी तीन माह में राज्य में 328 करोड़ रुपये के अनुदान गौशालाओं को दिये जायेंगे। उन्होंने नंदीशाला निर्माण, पशुओं का स्वास्थ्य परीक्षण एवं गौशाला विकास योजना की जानकारी देते हुए कहा कि राज्य सरकार की महती योजनाओं का लाभ अधिकाधिक गौशाला संचालकों को उठाना चाहिए।

इस अवसर पर गोपालन मंत्री ने श्रीबालाजी गौशाला संस्थान, सालासर में निर्मित गौवंश टिन शैड का लोकार्पण किया। इस अवसर पर पशुपालन विभाग के निदेशक लालसिंह,। सहित जिले की गौशाला समिति के अध्यक्ष, गौशाला संचालक तथा गोपालन विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। इससे पूर्व गोपालन मंत्री ने सालासर बालाजी मंदिर में दर्शन कर राज्य की खुशहाली की कामना भी की।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *