दिल्लीपर्यावरण

खुशखबर : रावण जलने के बावजूद दिल्ली की हवा सुधरी वायु गुणवत्ता सूचकांक 190 के साथ ‘मध्यम’ श्रेणी में पहुंची

राजधानी वासियों के लिए बुधवार की सुबह ताज़गी भरी सांसें लेकर आयी। दरअसल दिल्ली में बुधवार सुबह वायु गुणवत्ता में थोड़ा सुधार हुआ और वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘मध्यम’ श्रेणी में आ गया और वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘मध्यम’ श्रेणी में आ गया। सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के अनुसार, एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 190 दर्ज किया गया।
दिल्ली विश्वविद्यालय क्षेत्र में वायु गुणवत्ता 273, पूसा में 128, आईआईटी दिल्ली (173), हवाई अड्डा क्षेत्र (211), मथुरा रोड (152), और लोधी रोड (149) पर थी। इस बीच, नोएडा में एक्यूआई 218 दर्ज किया गया, जबकि गुरुग्राम में 169 रहा।हालांकि ये आंकड़े थोड़ी राहत देने वाले हैं। क्योंकि बीते 24 अक्टूबर को यानी कि दशहरे से एक दिन पहले दिल्ली का औसत एयर क्वालिटी 303 दर्ज किया गया था। बीते कुछ दिनों से औसतन दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स बहुत खराब रहा है।
कैसा रहेगा तापमान
नोएडा में AQI 219 (खराब) और गुरुग्राम में 169 (मध्यम) दर्ज किया गया। रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में प्रमुख सतही हवा उत्तर-पश्चिमी दिशाओं से आने की संभावना है, हवा की गति 12-16 किमी प्रति घंटे शाम को शांत हो जाएगी, 26 अक्टूबर सुबह आसमान साफ रहेगा और धुंध रहेगी। राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार सुबह न्यूनतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, दिन के दौरान क्षेत्र में अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।
‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान
बता दें कि दिल्ली सरकार ने ग्रेडेड रेस्पांस एक्शन प्लान का दूसरा फेज शुरू कर दिया है. जिसके तहत ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान को गुरुवार से शुरू करने का फैसला किया है. कुछ दिन पहले ही दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने एक बैठक की थी, जिसमें उन्होंने ये फैसला लिया था।
लागू हैं GRAP की पाबंदियां
प्रदूषण से निपटने के लिए एयर क्वालिटी इंडेक्स के आधार पर GRAP लागू किया जाता है। GRAP के कुल चार स्टेज हैं, बढ़ते प्रदूषण की स्थिति को देखते हुए दिल्ली में अब GRAP-1 के साथ-साथ GRAP-2 की पाबंदियां भी लागू हैं।
AQI के छह मानक
0-50 के बीच ‘अच्‍छी’, 51-100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘सामान्य’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ माना जाता है।

Related posts

आ रही है एनएएसएम-एमआर मिसाइल…! नौसेना की ताकत में होगा कई गुणा इजाफा

Clearnews

मोदी की ‘ग्लोबल लीडर अप्रूवल लिस्ट’ में बादशाहत कायम, बाइडेन और ऋषि सुनक छूटे काफी पीछे

Clearnews

लोकसभा में गिरा विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव, मणिपुर पर पीएम के मन की बात- ‘हमारे लिए नॉर्थ ईस्ट जिगर का टुकड़ा’

Clearnews