Number of voters in Rajasthan is 5 crore 9 lakh 43 thousand 21

राजस्थान (Rajasthan) में मतदाताओं की संख्या (Number of voters) हुई 5 करोड़ 9 लाख 43 हजार 21

जयपुर

200 निर्वाचन क्षेत्रों की मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन, पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान 14 लाख से ज्यादा मतदाताओं (Number of voters) ने जुड़वाए अपने नाम

राजस्थान (Rajasthan) में निर्वाचन विभाग ने प्रदेश में मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत बुधवार को राज्य के सभी 200 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की फोटोयुक्त मतदाता सूचियों का अन्तिम प्रकाशन कर दिया। यह सूची विभाग की वेबसाइट ceorajasthan.nic.in पर उपलब्ध है।

राज्. के मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि प्रदेश में मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान 14 लाख 22 हजार 968 मतदाताओं ने नाम जोड़े गए। इनमें 7 लाख 20 हजार 223 पुरुष और 7 लाख 2 हजार 745 महिलाएं हैं। उन्होंने बताया कि अन्तिम प्रकाशन की तिथि तक राज्य में कुल 5 करोड़ 9 लाख 43 हजार 21 मतदाता पंजीकृत हैं। इनमें से 2 करोड़ 65 लाख 32 हजार 787 पुरूष एवं 2 करोड़ 44 लाख 10 हजार 234 महिला मतदाता सम्मिलित हैं।

2.87 फीसद मतदाताओं की हुई बढ़ोतरी
गुप्ता ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान निर्धारित अवधि में मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए प्रारूप-6 में कुल 20 लाख 55 हजार 761 आवेदन पत्र एवं प्रारूप-7 में विलोपन के लिए 6 लाख 13 हजार 273 आवेदन पत्र प्राप्त हुए। प्रारूप-6 में कुल 19 लाख 86 हजार 214 आवेदन पत्र स्वीकार किए गए। इसी प्रकार से मृत या स्थानान्तरित मतदाताओं के नाम विलोपन करने के क्रम में कुल 5 लाख 63 हजार 245 आवेदन पत्र स्वीकार किए गए। इस प्रकार से राज्य की सभी विधानसभा क्षेत्रों में कुल 14 लाख 22 हजार 969 मतदाताओं की वृद्धि हुई है जो कि 2.87 प्रतिशत है।

23 हजार से ज्यादा विशेष योग्यजनों को भी जोड़ा
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि इस वर्ष पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान दावे एवं आपत्तियां प्राप्त करने की अवधि में 13 व 20 नवम्बर, 2021 को राज्य के सभी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में और 14 व 21 नवम्बर, 2021 को विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों के प्रत्येक मतदान केन्द्र पर विशेष शिविर आयोजित कर दावे एवं आपत्तियों के प्रार्थना पत्र प्राप्त किए गए। उन्होंने बताया पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान कुल 23 हजार 869 विशेष योग्यजनों का भी पंजीकरण किया गया। सभी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की मतदाता सूची में कुल 5 लाख 26 हजार 991 विशेष योग्यजन मतदाता पंजीकृत हैं।

ऑनलाइन माध्यम से मिले 28 लाख से ज्यादा आवेदन
गुप्ता ने बताया कि पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान ऑनलाइन माध्यम से कुल 28 लाख 46 हजार 506 आवेदन पत्र ऑनलाइन प्राप्त हुए हैं, जो कि सम्पूर्ण देश में सर्वाधिक है। उन्होंने बताया कि पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान राज्य के युवाओं द्वारा बढ़-चढ़ कर भाग लिया गया। 18 वर्ष की आयु के 3 लाख 26 हजार 103 युवा मतदाताओं एवं 18 वर्ष से अधिक आयु के 7 लाख 78 हजार 718 मतदाताओं द्वारा अपने स्वयं के मोबाईल नम्बर की सूचना आवेदन पत्र में दी जाकर मतदाता सूची में पंजीकरण करवाया गया है। ऐसे 11 लाख 4 हजार 821 मतदाता एनवीएसपी पोर्टल से अपना e-EPIC डाउनलोड कर सकते हैं। इस हेतु साधारण प्रक्रिया के अनुसार एनवीएसपी पोर्टल पर लोगिन करने पर मतदाता के मोबाइल नम्बर पर ओटीपी प्राप्त होगा तथा वह अपना e-EPIC डाउनलोड कर सकेंगे।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि प्रकाशित मतदाता सूची में 80 या 80 वर्ष से अधिक आयु के कुल 13 लाख 17 हजार 741 मतदाता पंजीकृत हैं। इसी प्रकार से विभिन्न विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में कुल 5 लाख 26 हजार 991 विशेष योग्यजन मतदाता मतदाता सूची में पंजीकृत हैं। उन्होंने बताया कि राज्य के विभिन्न विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में 1 लाख 42 हजार 827 सेवा नियोजित मतदाता अन्तिम भाग में पंजीकृत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.