इस्लामाबादराजनीति

नवाज की पाकिस्तान वापसी: 21 अक्टूबर को लंदन से अबु धाबी होते हुए लाहौर पहुंचेंगे

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ 21 अक्टूबर को 4 साल बाद लंदन से वापस लौटेंगे। इसके लिए उन्होंने फ्लाइट के टिकट भी बुक कर लिए हैं। पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, नवाज पहले लंदन से अबुधाबी पहुंचेंगे। इसके बाद यहां से वो लाहौर के लिए फ्लाइट बोर्ड करेंगे।
नवाज 21 अक्टूबर को शाम करीब 6ः25 बजे लाहौर के अलामा इकबाल इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर लैंड करेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक नवाज शरीफ के लिए एतिहाद एयरवेज की फ्लाइट 243 का बिजनेस क्लास टिकट बुक किया गया है। फ्लाइट में नवाज के साथ उनके स्टाफ मेंबर, पर्सनल एडवाइजर डॉ. एदनान और सांसद इरफान सिद्दिकी मौजूद रहेंगे।
पार्टी नेता स्वागत के लिए अबु धाबी जाएंगे
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नवाज की पार्टी के नेता और मेंबर उनका स्वागत करने के लिए अबु धाबी एयरपोर्ट जाएंगे। इसके अलावा लाहौर में भी नवाज के खास स्वागत की तैयारियां की जा रही हैं। दूसरी तरफ, नवाज की बेटी और पार्टी की वाइज प्रेसिडेंट मरियम नवाज ने कहा है कि उनके पिता अब पहले से ज्यादा पावरफुल होकर पाकिस्तान लौटेंगे।
पाकिस्तान में होगी एक नई शुरुआत
जियो न्यूज के मुताबिक, मरियम ने कहा- नवाज शरीफ के लौटने के बाद पाकिस्तान में शांति, विकास और रोजगार के क्षेत्र में एक नई सदी की शुरुआत होगी। देश मंदी के दौर से बाहर आएगा और पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था फिर से पटरी पर लौटेगी। नवाज वापस आकर देश को आतंकवाद से मुक्त कराएंगे। मरियम ने कहा- 21 अक्टूबर को पाकिस्तान के लोग ये साबित कर देंगे कि नवाज ही उनके असली लीडर हैं।
संसद ने आजीवन अयोग्यता वाला कानून बदला
3 महीने पहले पाकिस्तान में शाहबाज सरकार ने संसद में ‘लाइफटाइम डिस्क्वॉलिफिकेशन’ को रद्द कर दिया था। नए कानून के तहत किसी भी सांसद को अब 5 साल से ज्यादा के लिए अयोग्य करार नहीं दिया जा सकेगा। इस फैसले का फायदा सीधे तौर पर नवाज शरीफ को मिलेगा।
पनामा मामले में अयोग्य ठहराया गया
दरअसल, पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने 2017 में नवाज शरीफ को पनामा पेपर्स मामले में अयोग्य घोषित कर दिया था, जिसके बाद उन्हें किसी भी पार्टी में शामिल होने से रोक दिया गया था। लाहौर हाईकोर्ट ने 2019 में नवाज को इलाज कराने के लिए चार हफ्ते के लिए विदेश जाने की इजाजत दी थी। 19 नवंबर, 2019 को नवाज लंदन गए थे और तब से देश वापस नहीं लौटे हैं।
भ्रष्टाचार मामले में नवाज को हुई थी 7 साल की सजा
कोर्ट ने 2018 में नवाज को अल-अजीजिया स्टील मिल्स भ्रष्टाचार मामले में दोषी ठहराते हुए 7 साल की सजा सुनाई थी। वहीं एवनफील्ड प्रॉपर्टी मामले में उन्हें 11 साल की सजा सुनाई गई थी और 80 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया गया था। 16 नवंबर 2019 को लाहौर हाईकोर्ट ने नवाज की सजा सस्पेंड करते हुए उन्हें इलाज के लिए विदेश जाने की इजाजत दी थी। नवाज शरीफ अब तक 3 बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रह चुके हैं।

Related posts

बालाकोट स्ट्राइक के बाद भारत पर हमला करने वाला था पाकिस्तान, 12 ठिकानों पर तानी थी मिसाइलें..!

Clearnews

कांग्रेस ने बागी विधायकों की घर वापसी के लिए चला दांव

admin

पर्ची खोलने के डेढ़ महीने बाद वसुंधरा के आवास पर सीएम भजन लाल, सियासी गलियारों में चर्चा

Clearnews