क्राइम न्यूज़दिल्ली

संसद की सुरक्षा में सेंध लगाने के मास्टरमाइंड ललित झा ने दिल्ली पुलिस में किया आत्मसमर्पण

संसद की सुरक्षा में सेंध लगाने के मास्टरमाइंड ललित झा ने दिल्ली पुलिस के सामने सरेंडर कर लिया है। आरोपी ललित झा ने गुरुवार देर रात सरेंडर किया। ललित झा ने लोकसभा के अंदर दो युवकों के उत्पात मचाने और कलर स्मोक स्प्रे छोड़ने का वीडियो शेयर किया था। इस मामले के 4 आरोपियों को 7 दिनों की पुलिस रिमांड पर भेजा गया है।
संसद भवन पर हमले की 22वीं बरसी पर लोकसभा में घुसकर स्मोक गन चलाने की साजिश ललित झा की ही थी। पुलिस ने उसके 4 साथियों को बुधवार को ही गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन मास्टरमाइंड ललित झा फरार चल रहा था। ललित झा, महेश नाम के शख्स के साथ कर्तव्य पथ थाने पहुंचा और सरेंडर किया। नई दिल्ली जिला पुलिस ने उसे स्पेशल सेल के हवाले कर दिया है।
पुलिस की रिपोर्ट के मुताबिक, ललित झा ने इस साजिश में शामिल लोगों को कॉल किया और गुरुग्राम में मीटिंग के लिए बुलाया था। हमले से पहले ललित झा ने सभी के मोबाइल फोन से सारे सबूत मिटाए थे। इसके बाद वह फरार हो गया। ललित झा की लोकेशन आखिरी बार राजस्थान के नीमराना में ट्रेस की गई थी। जानकारी के मुताबिक, ललित झा आदिवासियों के लिए काम करने वाले एक छळव् से जुड़ा था।
4 आरोपियों को कोर्ट ने 7 दिन की पुलिस रिमांड में भेजा
बुधवार को संसद के अंदर और बाहर से पकड़े गए चारों आरोपियों को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने चारों को 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। हालांकि, पुलिस ने आरोपियों के लिए 15 दिन की रिमांड मांगी थी। इस मामले में एक और शख्स विक्की शर्मा के भी पत्नी के साथ हिरासत में लिया गया था। विक्की शर्मा के घर पर ही सभी आरोपी रुके हुए थे। हालांकि, पूछताछ के बाद पुलिस ने दोनों को छोड़ दिया।
विक्की शर्मा के घर पर रुके थे सभी आरोपी
रिपोर्ट के मुताबिक आरोपी सागर शर्मा, मनोरंजन डी, नीलम आजाद और अमोल शिंदे दिल्ली जाने से पहले गुरुग्राम में विक्की शर्मा के घर सेक्टर 7 की हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में रुके थे। इनके साथ ललित झा भी था। दिल्ली पुलिस का कहना है कि इन सभी की एक-दूसरे से मुलाकात ऑनलाइन साइट पर हुई थी। सभी ने मिलकर संसद में हंगामे की योजना बनाई।
पुलिस की शुरुआती पूछताछ में सामने आया है कि सागर शर्मा लखनऊ का रहने वाला है। डी मनोरंजन कर्नाटक के मैसुरु का निवासी है। दोनों लोकसभा के अंदर थे और उत्पात मचाते हुए पीला धुआं छोड़ा था। दोनों को बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा के ऑफिस से विजिटर्स पास मिला था। संसद के बाहर पकड़ी गई नीलम आजाद हरियाणा के हिसार की है। चैथा आरोपी अमोल शिंदे महाराष्ट्र के लातूर का रहने वाला है।
पढ़े-लिखे हैं सभी आरोपी
चारों आरोपी पढ़े-लिखे हैं। नीलम 42 साल की है और पेशे से टीचर है, साथ ही सिविल सेवा की पढ़ाई कर रही है। पुलिस सूत्रों ने कहा कि ललित झा ने सागर शर्मा, मनोरंजन डी, नीलम और अमोल शिंदे और विक्की शर्मा को बुधवार सुबह गुरुग्राम बुलाया था।

Related posts

सीएम अशोक गहलोत के ओएसडी को मिली राहत, विधानसभा चुनाव बाद होगी सुनवाई

Clearnews

ईपीएफओ सब्सक्राइबर्स की मौज: एक झटके में 333 फीसदी तक बढ़ी ईपीएस पेंशन..?

Clearnews

जयपुर-मुंबई पैसेंजर ट्रेन में अंधाधुंध फायरिंग, ASI सहित 4 लोगों की मौत

Clearnews