RSTC

एक दिन में रोडवेज बसों में यात्रीभार दोगुना

अजमेर अलवर उदयपुर कोटा कोरोना जयपुर जोधपुर दौसा प्रतापगढ़ बाड़मेर बीकानेर श्रीगंगानगर सीकर स्वास्थ्य हनुमानगढ़

जयपुर। दो महीनों से अधिक समय से घरों में कैद लोग अब अपने रोजगार और अन्य कार्यों के लिए यात्राएं करने लगे हैं। राजस्थान रोडवेज के आंकड़े तो यही बता रहे हैं। रोडवेज ने 3 जून से 200 रूटों पर बस सेवाओं का संचालन शुरू किया था। पहले दिन बसों में 7642 यात्रियों ने यात्रा की, लेकिन दूसरे दिन ही यह आंकड़ा उछल कर दो-गुना हो गया।रोडवेज के प्रबंध निदेशक नवीन जैन ने बताया कि 4 जून को बसों में यात्रियों की संख्या 16 हजार का आंकड़ा पार कर गई। इसी के साथ ही अन्य रूटों पर भी बसों के संचालन की मांग उठने लगी है।

ऑनलाइन बुकिंग का बढ़ा क्रेज

जैन ने बताया कि पहले दिन कुल यात्रियों में से 37 फीसदी ने ऑनलाइन बुकिंग कराई। दूसरे दिन 5 हजार यात्रियों ने ऑनलाइन बुकिंग कराई। सबसे ज्यादा ऑन-लाइ्रन बुकिंग जयपुर आगार, बीकानेर आगार, उदयपुर आगार, डीलक्स आगार तथा सरदारशहर आगार में देखने को मिली। रोडवेज द्वारा 5 प्रतिशत कैश बैक योजना और कोरोना संक्रमण के चलते यात्री ऑनलाइन बुकिंग को प्राथमिकता दे रहे हैं।

ई-मेल पर भेज सकते है बस की मांग

जैन ने बताया कि यदि किसी रूट पर यात्रियों की संख्या पर्याप्त है तो उस इलाके के लोग बस चलाने के अपने प्रस्ताव रोडवेज की ई-मेल पर भेज सकते हैं। जिस पर आवश्यक जानकारी जुटाने के बाद उचित निर्णय लिया जाएगा।

सुरक्षा के पूरे उपाय

रोडवेज बसों में यात्रा के दौरान कोराना संक्रमण से सुरक्षा के पूरे उपाय किए जा रहे हैं। सैनेटाइज बसों को ही यात्रा की अनुमति दी जाती है। सुबह बस स्टैंडों को भी सैनेटाइज किया जा रहा है। स्टाफ को फेस शील्ड, मास्क, ग्लब्स और सैनेटाइजर उपलब्ध कराए जा रहे हैं। थर्मल स्क्रीनिग के आदेशों की भी शत प्रतिशत पालना की जा रही है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *