खेलदिल्ली

ओलंपिक की तैयारी: पीएम मोदी ने कहा- 2036 ओलंपिक की मेजबानी की कोशिश में कोई कसर नहीं छोड़ेगा भारत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत अपनी धरती पर 2036 के ओलंपिक का आयोजन के प्रयासों में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगा, लेकिन इसके पहले वह 2029 के युवा ओलंपिक के आयोजन का इच्छुक है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि भारत 2036 ओलंपिक का आयोजन देश में करने के लिये अपनी कोशिशों में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगा क्योंकि यह 140 करोड़ भारतीयों का सपना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के सत्र का उद्घाटन करते हुए कहा, ‘मैं आपके सामने 140 करोड़ भारतीयों की भावना रखना चाहूंगा। भारत अपनी धरती पर 2036 के ओलंपिक का आयोजन के प्रयासों में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगा। यह 140 करोड़ भारतीयों का सपना है, उनकी आकांक्षा है। इस सपने को हम आपके सहयोग से पूरा करना चाहते हैं।’
‘युवा ओलंपिक की मेजबानी का भी इच्छुक है भारत’
पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा, ‘इससे पहले भारत 2029 में होने वाले युवा ओलंपिक की मेजबानी का भी इच्छुक है। मुझे विश्वास है कि भारत को निरंतर सहयोग मिलता रहेगा। भारत बड़े स्तर पर वैश्विक आयोजन की मेजबानी के लिये तैयार है। यह दुनिया ने जी20 की मेजबानी के दौरान देखा है। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति का 141वां सत्र भारत में होना बहुत ही खास है। 40 साल बाद भारत में आईओसी का सत्र होना हमारे लिये बहुत गौरव की बात है। बीते वर्षों में भारत ने हर प्रकार के वैश्विक खेल टूर्नामेंट आयोजित करने के अपने सामर्थ्य को साबित किया है।’
पीएम ने किया भारत की उपलब्धियों का जिक्र
प्रधानमंत्री ने भारत की हालिया उपलब्धियों का जिक्र करते हुए कहा, ‘हमने हाल ही में शतरंज ओलंपियाड का आयोजन किया, जिसमें विश्व के 186 देश शामिल हुए। हमने महिला फुटबॉल अंडर 17 विश्व कप, पुरूष हॉकी विश्व कप, निशानेबाजी विश्वकप की भी मेजबानी की। भारत में हर साल दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग में से एक (आईपीएल) का भी आयोजन होता है। इस समय भारत में क्रिकेट विश्व कप भी चल रहा है। उत्साह के इस माहौल में सब यह सुनकर भी खुश हैं कि कार्यकारी बोर्ड ने क्रिकेट को 2028 ओलंपिक में शामिल किये जाने का प्रस्ताव रखा है। हमें उम्मीद है कि इस बारे में जल्दी ही सकारात्मक खबर सुनने को मिलेगी।’
‘अभी भारत ने एक शानदार जीत दर्ज की है’
पीएम मोदी ने अहमदाबाद में विश्व कप में भारत की पाकिस्तान पर जीत का जिक्र करते हुए कहा, ‘अब से कुछ मिनट पहले भी भारत ने अहमदाबाद में दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम में बहुत ही शानदार जीत दर्ज की है। मैं टीम भारत को और सभी भारतवासियों को इस ऐतिहासिक जीत की बधाई देता हूं।’ उन्होंने भारत की प्राचीन खेल परंपरा का उल्लेख करते हुए कहा, ‘खेल भारत में हमारी संस्कृति का, हमारी जीवनशैली का अहम अंग रहा है। भारत के गांवों में खेलों के बिना हमारा हर उत्सव अधूरा है। हम भारतीय सिर्फ खेलप्रेमी नहीं बल्कि हम खेलों को जीने वाले लोग हैं और यह हजारों वर्षों के हमारे इतिहास में परिलक्षित होता है।’
‘खेल मानवता को अपने विस्तार का अवसर देता है’
पीएम मोदी ने कहा,‘सिंधु घाटी की सभ्यता हो, हजारों साल पहले का वैदिक काल हो , हर कालखंड में खेलों को लेकर भारत की विरासत समृद्ध रही है। हमारे यहां हजारों साल पहले लिखे ग्रंथों में चैसठ विधाओं में पारंगत होने की बात कही जाती है जिनमें से अनेक विधाये खेलों से जुड़ी है जैसे घुड़सवारी, धनुर्विद्या, तैराकी, कुश्ती आदि। खेलों में कोई हारता नहीं है। खेल में बस विजेता और सीखने वाले होते हैं। खेल की भाषा और भावना सार्वभौमिक है। खेल बस प्रतिस्पर्धा नहीं है, यह मानवता को अपने विस्तार का अवसर देता है। रिकॉर्ड कोई भी तोड़े, पूरी दुनिया उसका स्वागत करती है।’

Related posts

चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन मामला :चुनाव आयोग से पीएम मोदी को मिल सकती है क्लीन चिट

Clearnews

बिहार में फिर खेल! अमित शाह के आवास पर 2 घंटे की बैठक में क्या-क्या हुआ

Clearnews

Change in Modi Cabinet: किरेन रिजिजू की जगह अब राजस्थान के अर्जुनराम मेघवाल होंगे कानून मंत्री

Clearnews