जयपुरताज़ा समाचार

जयपुर, कोटा, भरतपुर संभाग व शेखावाटी के कई क्षेत्रों में बरसात व ओलावृष्टि की संभावना, शनिवार, 13 मार्च के बाद कम होगा पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव

बुजुर्गों की अनुभव के आधार पर कही गयी बातें बहुत ही सटीक हुआ करती हैं। अक्सर उनकी जुबानी यह कहते सुना जाता है कि बसंत पंचमी से महाशिवरात्रि के बीच सर्दी एक बार तो लौट कर आती ही है या फिर इन दिनों मावठ होने के आसार होते हैं। बीती 8 मार्च को महुआ से भरतपुर के बीच ओलावृष्टि हुई थी और फसलों के खराबे की खबर आई थी। लेकिन, अब जयपुर, कोटा, भरतपुर संभाग व  शेखावाटी  क्षेत्र में मेघगर्जन के साथ बरसात की संभावना व्यक्त की जा रही है।

खबर लिखे जाने तक समाचार मिल रहे हैं 12 मार्च की शाम से ही जयपुर, कोटा, भरतपुर संभाव औव शेखावाटी क्षेत्र में हल्के से मध्यम दर्जे की बरसात हो रही है। शेखावाटी के कुछ इलाकों में कहीं-कहीं ओलावृष्टि होने की भी संभावना है। मौसम विभाग के क्षेत्रीय निदेशक आरएस शर्मा के अनुसार राजस्थान के ऊपर एक प्रेरित परिसंचरण तत्र बना हुआ है। इस वजह से राज्य के विभिन्न इलाकों में हवाएं एक बार फिर ठण्डी हो गयी हैं और कहीं-कहीं हल्के से मध्यम दर्जे के बरसात हो रही है।

8 मार्च को भरतपुर संभाग में तेज बरसात और ओलावृष्टि हुई थी

शर्मा ने बताया कि जिस पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के कारण यह बरसात और ओलावृष्टि हो रही है, इसका प्रभाव शनिवार, 13 मार्च तक रहने वाला है। इसके अगले 4-5 दिनों तक मौसम शुष्क रहने वाला है। 8 मार्च को जब यह पश्चिम विक्षोत्र का तंत्र सक्रिय हुआ था तो भरतपुर जिले के बयाना, अजीतगढ़ में भी तेज बारिश व ओलावृष्टि से ओलों की चादर बिछ गई थी और बारिश होने से रबी की खड़ी हुई फसल को काफी नुकसान हुआ था।

Related posts

रोहिताश्व को केंद्रीय संगठन(BJP central body) से क्लीन चिट मिलने की उम्मीद, लगाएंगे दिल्ली (Delhi) दरबार में फरियाद

admin

प्रसिद्ध जयपुरी घेवर को जीआई टैग दिलाने के प्रयास शुरू

admin

नगर निगम ग्रेटर के संचालन समितियों का प्रस्ताव निरस्त, नगर निगम ग्रेटर में अब सरकार बनाएगी समितियां!

admin