कूटनीतिमॉस्को

जिंदा हैं वैगनर चीफ प्रिगोझिन, पुतिन से बदला लेने की कर रहे तैयारी..! रूस में हुआ दावा

वैगनर ग्रुप के चीफ येवेज्ञनी प्रिगोझिन की मौत हो चुकी है। खुद रूस इस बात की पुष्टि कर चुका है। रूस के सेंट पीटर्सबर्ग शहर में मंगलवार को प्रिगोझिन को दफना दिया गया। हालांकि, सारे सबूतों के बाद भी प्रिगोझिन के जिंदा होने की बातें उठ रही हैं। हैरानी वाली बात ये है कि खुद रूस के भीतर से ही इस तरह के दावे हो रहे हैं। इन दावों की मुख्य वजह प्रिगोझिन का पुराना इतिहास है।
डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, रूस के एक राजनीतिक विश्लेषक का दावा है कि प्रिगोझिन अभी मरे नहीं हैं। 23 अगस्त को विमान क्रैश में प्रिगोझिन नहीं, बल्कि उनके बॉडी डबल की मौत हुई थी। उन्होंने यहां तक दावा किया कि वैगनर चीफ एक अज्ञात देश में मौजूद हैं और आराम से घूम रहे हैं। इस दावे को करने वाले व्यक्ति का नाम है डॉ. वालेरी सोलोवी। वह रूस के जाने-माने राजनीतिक विश्लेषक हैं।
बॉडी डबल का इस्तेमाल करते थे प्रिगोझिन
डॉ. वालेरी सोलोवी मॉस्को के प्रतिष्ठित संस्थान ‘इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल रिलेशन’ (एमजीआईएमओ) के पूर्व प्रोफेसर रह चुके हैं। एमजीआईएमओ में ही रूस के जासूसों और राजनयिकों को ट्रेनिंग दी जाती है। यही वजह है कि जब डॉ. सोलोवी ने वैगनर चीफ के जिंदा होने का दावा किया, तो सबकी निगाहें उनकी ओर मुड़ गईं। वह दावा करते हैं कि मौत को चकमा देने के बाद प्रिगोझिन अब बदला लेने की तैयारी कर रहे हैं।
वैगनर चीफ को मारने का प्लान फेल
डॉ. सोलोवी ने आरोप लगाया कि रूस के अधिकारी प्रिगोझिन के डीएनए के जरिए उसकी मौत की पुष्टि के झूठे दावे कर रहे हैं। वैगनर चीफ को मारने का प्लान फेल हुआ है, क्योंकि विमान में प्रिगोझिन नहीं, बल्कि उनका बॉडी डबल बैठा हुआ था। प्रिगोझिन की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर सामने आई हैं, जिसमें उन्हें दाढ़ी में देखा जा रहा है। अफ्रीका और मिडिल ईस्ट में वह ऐसा कर अपना हुलिया छिपाया करते थे।
प्रिगोझिन की मौत पर डॉ. सोलोवी ने क्या कहा?
डॉ. सोलोवी कहते हैं कि सबसे पहली बात ये है कि प्रिगोझिन को जिस विमान से सफर करना था, उसे रूसी एयर डिफेंस सिस्टम के जरिए मार गिराया गया। उड़ते विमान में कोई धमाका नहीं हुआ था। इसे बाहर से मार गिराया गया। वह दावा करते हैं कि वैगनर चीफ को मारने का सीक्रेट ऑपरेशन रूसी सुरक्षा परिषद ने तैयार किया था। इसे खुद राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के जरिए सहमति मिली थी।
अपने लोगों को मारने का ऑप्शन दिया गया
रूसी राजनीतिक विश्लेषक का दावा है कि प्रिगोझिन जिंदा है और खुला घूम रहे हैं। राष्ट्रपति पुतिन भी इस बात को जानते हैं कि वैगनर चीफ विमान में सफर नहीं कर रहा था। उनका कहना है कि प्रिगोझिन को खुद को जिंदा रखने के बदले बाकी के अपने लोगों को मारने का ऑप्शन दिया गया। उन्होंने ये ऑफर तो ले लिया, मगर अब वह बदला लेने की तैयारी कर रहे हैं। उनके पास ऐसा करने के लिए खूब सारा पैसा है।

Related posts

इटली की पीएम मेलोनी को गले लगाकर बुरे फंसे ऋषि सुनक! दोनों ने जारी की सफाई

Clearnews

इजरायल-हमास जंग के बीच मिले भारत के एनएसए अजीत डोभाल और बेंजामिन नेतन्याहू

Clearnews

रोड शो से लेकर शाही डिनर तक… फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और पीएम मोदी दौरे की खास बातें

Clearnews