raajasthaan (Rajasthan) ke chikitsa evan svaasthy mantree (Medical and Health Minister) ne kiya boondee jile mein nirmaanaadheen medikal kolej (under construction medical college) bhoomi ka nireekshan, nirdhaarit avadhi mein nirmaan poora karane ke nirdesh

राजस्थान (Rajasthan) के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री (Medical and Health Minister) ने किया बूंदी जिले में निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज (under construction medical college) भूमि का निरीक्षण,निर्धारित अवधि में निर्माण पूरा करने के निर्देश

जयपुर ताज़ा समाचार

राजस्थान (Rajasthan) के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री (Medical and Health Minister) डॉ. रघु शर्मा ने शुक्रवार, 20 अगस्त को बूंदी के तालाब गांव में 325 करोड़ रुपये की लागत से निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज (under construction medical college) की भूमि तथा प्रोजेक्ट के मास्टर प्लान का निरीक्षण किया। उन्होंने निर्माणकर्ता एजेंसी को निर्देश दिए कि 15 महीने में  मेडिकल कॉलेज बनकर तैयार हो जायें।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि गरीब का बच्चा भी डॉक्टर बने हमारा यह प्रयास होना चाहिए। राज्य सरकार की कोशिश और इच्छा यही है कि कम फीस में पढ़कर हमारे प्रदेश राजस्थान के बच्चे डॉक्टर बन सकें। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने स्वास्थ्य को सर्वोच्च प्राथमिकता पर रखते हुए प्रदेश सभी जिलों में सरकारी क्षेत्र में मेडिकल कॉलेज स्थापित करने का चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को टास्क दिया। 

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की इस महत्वपूर्ण पहल से प्रदेश के सभी जिलों में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर ही बदल जाएगा। उन्होंने कहा कि जन स्वास्थ्य हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता पर है जिसके लिए मुख्यमंत्री महोदय ने निशुल्क दवा और निशुल्क जांच योजना की कड़ी में चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की है जो आमजन को राहत देगी।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि बूंदी जिले की प्राकृतिक विशिष्टता को देखते हुए मेडिकल टूरिज्म के लिए भी इसे चुना गया है। बूंदी के साथ ही कुल 20 स्थानों पर पीपीपी मोड पर मेडिकल टूरिज्म विकसित किया जाएगा। उन्होंने निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज का मास्टर प्लान देखकर एकेडमिक ब्लॉक, रेजिडेंशियल ब्लॉक, विभिन्न विभाग, स्पोट्र्स एरिया, ओपन एयर थिएटर, कैफिटेरिया इत्यादि की जानकारी ली। उन्होंने निर्माता कंपनी प्रतिनिधियों को निर्देश दिए कि सबसे पहले प्रवेश द्वार और सड़क का कार्य शुरू किया जाए।

कोटा में 16.53 करोड़ के नये कार्यों का लोकार्पण

चिकित्सा एवं जनसम्पर्क मंत्री डॉ. रघु शर्मा और स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने कोटा जिले को चिकित्सा के क्षेत्र में नई सौगात देते हुए 16.53 करोड़ रूपये के नवीन कार्यों का लोकार्पण किया। उन्होंने मेडिकल कॉलेज सभागार में कोरोना की संभावित तीसरी लहर की तैयारियों की समीक्षा कर चल रहे विकास कार्यों का भी निरीक्षण किया। 

चिकित्सा के क्षेत्र में राजस्थान हुआ अग्रणीःचिकित्सा मंत्री

Dhariwal and Raghu sharma
स्वायत्त शासन मंत्री शाति धारीवाल और चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा

चिकित्सा मंत्री डॉ. शर्मा ने कहा कि पिछले ढाई सालों में चिकित्सा के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य करते हुए राजस्थान देश में अग्रणी पंक्ति में शामिल हुआ है। आधारभूत सुविधाओं में वृद्धि करने के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी चिकित्सा सुविधाऎं सुदृढ़ की गई है। उन्होंने कहा कि कोरोना की महामारी से सीख लेते हुए जांच सुविधा में बढ़ोतरी की गई है। दवाओं की उपलब्धता के साथ ही भविष्य में संभावित तीसरी लहर को देखते हुए ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट स्थापना में भी ऎतिहासिक कार्य किया गया है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में आज 70 स्थानों पर 1 लाख 75 हजार आरटीपीसीआर जांच की क्षमता विकसित की जा चुकी है। कोरोना की रिकवरी दर में देश में अग्रणी स्थान पर है, मृत्यु दर सबसे कम है। उन्होंने कहा कि मेडिकल ऑक्सीजन के क्षेत्र में राजस्थान आत्मनिर्भर बनने जा रहा है। 400 स्थानों पर ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट स्थापित करने का कार्य प्रगति पर है। 50 हजार ऑक्सीजन कंसनट्रेटर की खरीद भी की गई है। 

इलाज के लिए लोगों को बाहर नहीं जाना पड़ेगाः धारीवाल

राज्य के स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में कोटा प्रदेश में आधुनिक सुविधाओं युक्त शहर की ओर बढ़ता जा रहा है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राजस्थान में हर जिले में चिकित्सा महाविद्यालय खोलने के साथ ही सब सेंटर तक को मजबूत किया जा रहा है जिससे लोगों को इलाज के लिए बाहर नहीं जाना पड़े। उन्होंने कहा कि कोटा में अब एसएमएस अस्पताल जयपुर के समान चिकित्सा सुविधाऎं मिलने लगेंगी। इससे सम्पूर्ण हाड़ौती सहित मध्यप्रदेश राज्य से आने वाले रोगियों को भी सीधा लाभ मिलेगा। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *